उत्तराखण्ड काशीपुर ज़रा हटके

ब्लॉक सभागार में किया गया तहसील दिवस एवम जन संवाद कार्यक्रम का आयोजन……

ख़बर शेयर करें -

काशीपुर- ब्लॉक सभागार में तहसील दिवस एवम जन संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमे कार्यक्रम क्रियान्वयन सचिव दीपक कुमार, जिलाधिकारी उदयराज सिंह, मुख्य विकास अधिकारी मनीष कुमार द्वारा जन संवाद करते हुए समस्याएं सुनी और अधिकांश समस्याओं का निस्तारण मौके पर ही किया गया। तहसील दिवस एवम जन सुनवाई में सड़क, बिजली, पानी, सिंचाई, राशन कार्ड, अतिक्रमण, जमीनी विवाद, रास्ता, पेंशन, जल भराव आदि से सम्बन्धित 100 से अधिक समस्याएं एवम प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए,

 

जिसमें से अधिकांश का मौके पर ही निस्तारण किया गया। सचिव दीपक कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री जी की मंशा के अनुरूप जनपदों के साथ ही सचिवालय स्तर के अधिकारियों द्वारा जनपदों में पहुंचकर जन संवाद किया जा रहा है, ताकि जन समस्याओं का शीघ्रता से निस्तारण हों के साथ ही शासन स्तर की समस्याओं के शीघ्रता से निस्तारण तथा पॉलिसी परिवर्तन आदि की आवश्यकताओं के अनुरूप पॉलिसी परिवर्तन कार्य शीघ्र हो सके जिससे कि जनता अधिक से अधिक लाभान्वित हो और योजनाओं का लाभ दूरस्थ क्षेत्र की जनता भी आसानी से उठा सके।

 

उन्होंने राशन कार्ड ऑनलाइन करने हेतु विभिन्न क्षेत्रों में कैंप आयोजित करने के निर्देश पूर्ति विभाग के अधिकारियों को दिए। डीएम ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि आमजन की समस्याओं का निस्तारण सर्वाेच्च प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि जनता की कोई भी समस्या हो, उसका निस्तारण व्यक्तिगत रुचि लेकर समाधान करना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि जो भी समस्या है, उनका सरलीकरण, समाधान, निस्तारीकरण के क्रम में शीघ्रता से निस्तारण करना है। डीएम ने कहा कि तहसील दिवस में जिन समस्याओं का निस्तारण संभव नहीं हो पाया है, उन सम्स्याओं को सम्बन्धित विभागों को हस्तगत किया जा रहा हैं,

यह भी पढ़ें 👉  केंद्र में नई सरकार के गठन के साथ ही आंचल ने दी महंगाई की सौगात…….

 

उन सभी समस्याओं का समबद्धता एवं प्राथमिकता से निस्तारण करना सुनिश्चित करें और कृत कार्यवाही से फरियादियों को भी अवगत कराना सुनिश्चित करें। तहसील दिवस में चिकित्सा, शिक्षा, कृषि, उद्यान, खाद्य नागरिक आपूर्ति, पशुपालन,बाल विकास, महिला सशक्तिकरण एवम बाल विकास, राजस्व, चकबंदी, सेवायोजन, उद्योग, समाज कल्याण, गन्ना विकास, पुलिस, पंचायतीराज, ग्राम्य विकास, शहरी विकास, विद्युत, सहकारिता आदि विभागों द्वारा स्टॉल लगाकर अपने अपने विभाग से संबंधित योजनाओं की जानकारी दी गई तथा पात्र व्यक्तियों के मौके पर ही फार्म भरवाए गए।

 

प्रमुख समस्याओं में पूर्व सैनिक एकता समिति ने बसंत बिहार कॉलोनी में रोड बनवाने, पानी निकासी की समस्या, नाले की सफाई और आगे से नाला ब्लॉक होने की शिकायत की जिसपर डीएम ने जनता से अपील करते हुए कहा कि जहां भी कोई कॉलोनी में जमीन खरीदे, पहले कॉलोनाइजर से पूछें कि क्या–क्या सुविधाएं मुहैया कराएंगे, बिजली पानी, जल निकासी, सड़क आदि की सुविधा देंगे या नहीं। सरकार कॉलोनी पास करती है तो कॉलोनाइजर से उचित चार्ज भी लेती है, जिसे विकास में लगाया जाता है।

यह भी पढ़ें 👉  पौड़ी पुलिस ने गुम हुये फोन को सकुशल किया फोन स्वामी के सुपुर्द……

 

उन्होंने समस्या निदान हेतु 15 दिन के भीतर  सर्वे करने के निर्देश दिए। मोहम्मद यासीन ने प्रधानमंत्री आवास योजनान्तर्गत आवास चाहने के संबंध में आवेदन दिया, जिस पर जिलाधिकारी ने खंड विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि आवास चाहने वाले व्यक्तियों का सर्वे कर क्रमांक सहित सूची तैयार की जाए। हयात सिंह ने दो साल से दाखिल–खारिज न होने की शिकायत की, इस संबंध में पटवारी द्वारा अवगत कराया गया कि इस खसरे में रोक लगी हुई है और जांच चल रही है।  जिलाधिकारी ने  निर्देशित करते हुए कहा कि जिस जमीन की रजिस्ट्री हुई है, रजिस्ट्री कराने वाले के नाम है

 

या नहीं और कोई विवाद तो लंबित नहीं है आदि की जांच करते हुए यदि सभी कुछ सामान्य है तो दाखिल खारिज की कार्यवाही की जाए। केदार दत्त पुरोहित ने खनन वाहनों से आरबीएम रास्ते में गिरने से नाले जाम होने, नाले चोक होने से पानी खेतों में भर जाने की शिकायत की, जिस पर जिलाधिकारी ने एसडीएम को स्थलीय निरीक्षण करते हुए प्रस्ताव तैयार कर खनन विकास निधि में प्रस्तावित करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही ग्राम प्रधान दभोरा मुस्तकम ने सीसी रोड, हैंड पम्प, राशन कार्ड ऑनलाइन करवाने, डामरीकरण कराने, अतुल कुमार ने घर के ऊपर से बिजली के तार हटाने आदि की मांग की। इसके पश्चात जिलाधिकारी ने लक्ष्मीपुर मैनर का निरीक्षण किया।

यह भी पढ़ें 👉  2 किलो 40 ग्राम अवैध चरस के साथ 02 अभियुक्त उधम सिंह नगर पुलिस की गिरफ्त में…..

 

उन्होंने निरक्षण के दौरान अधिशासी अभियंता सिंचाई को निर्देश दिए कि नहर कोवरिंग एवम सड़क निर्माण के दौरान इस बात पर विशेष ध्यान दिया जाए कि जल निकासी की समुचित व्यवस्था हो और जल भराव की स्थिति का सामना न करना पड़े। ड्रेनेज सिस्टम तैयार करते समय ढलान का विशेष ध्यान रखा जाए और नहर की सफाई हेतु भी उचित व्यवस्था की जाए। जिलाधिकारी ने एलडी भट्ट उप जिला चिकित्सालय पहुंचकर चिकित्सालय प्रबंधन समिति की बैठक ली। बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं हेतु समिति द्वारा विभिन्न प्रस्तावों पर अनुमोदन दिया गया।

 

इस दौरान ब्लॉक प्रमुख अर्जुन कश्यप, राजेश कुमार, मुख्य विकास अधिकारी मनीष कुमार, नगर आयुक्त विवेक राय, एएसपी अभय सिंह, उप जिलाधिकारी अभय प्रताप सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी अमन अनिरुद्ध, जिला प्रोबेशन अधिकारी व्योमा जैन, तहसीलदार पंकज चंदोला, एडीपीआरओ महेश कुमार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply