उत्तराखण्ड कोटद्वार ज़रा हटके

राष्ट्रीय हिन्दी दिवस के शुभ अवसर पर ‘हिन्दी भाषा में रोजगार की संभावनाएं’ विषय पर भाषण प्रतियोगिता आयोजित की गई……

ख़बर शेयर करें -

कोटद्वार- राष्ट्रीय हिन्दी दिवस के शुभ अवसर पर हिन्दी विभाग तथा आई. क्यू. ए. सी.के संयुक्त तत्वावधान में हिन्दी सप्ताह के तहत ‘हिन्दी भाषा में रोजगार की संभावनाएं’ विषय पर भाषण प्रतियोगिता आयोजित की गई। कार्यक्रम का शुभारंभ महाविद्यालय की प्राचार्य प्रोफेसर जानकी पंवार द्वारा सरस्वती की प्रतिमा के सम्मुख दीप प्रज्ज्वलित करने के उपरान्त डॉ. पीताम्बर दत्त बर्थवाल की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर किया गया।

कार्यक्रम में सर्वप्रथम संरक्षिका प्राचार्य प्रो. जानकी पंवार ने महाविद्यालय के समस्त शिक्षकों, शिक्षणेत्तर कर्मचारियों एवं एवं छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए हिन्दी दिवस की शुभकामना  दी और कहा कि यह एक ऐसी भाषा है जिसमें हम सोचते,बोलते और विचारों का आदान-प्रदान करते हैं। हमें एकजुट होकर उसे राष्ट्रभाषा के रूप में स्थापित करने का प्रयास करना चाहिए। कार्यक्रम की संयोजक विभाग प्रभारी डॉ. शोभा रावत ने हिन्दी भाषा की उपलब्धियों को बताते हुए वैश्विक पटल पर हिन्दी के प्रयोग पर अपने विचार व्यक्त किए।

यह भी पढ़ें 👉  भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान एवं एसेंचर ने महिलाओं को दी नई पहचान……

सह संयोजक डॉ. कपिल थपलियाल ने हिन्दी की संवैधानिक स्थिति को बताया, डॉ. सुमन कुकरेती ने हिन्दी की दशा और दिशा का विश्लेषण किया एवं डॉ. विजयलक्ष्मी ने हिन्दी के प्रयोग क्षेत्रों का वर्णन किया। महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं ने सोत्साह प्रतिभाग करते हुए बढ़ -चढ़ कर भाषण प्रतियोगिता में भाग लिया। इसमें कु. आँचल बी. ए. तृतीय वर्ष व प्रशांत जुयाल बी. ए. प्रथम सेमेस्टर ने संयुक्त रूप से प्रथम स्थान प्राप्त किया. मुकुल नेगी एम. ए. तृतीय सेमेस्टर ने द्वितीय तथा आशीष नेगी बी. ए. प्रथम सेमेस्टर  ने तीसरा स्थान प्राप्त किया..

यह भी पढ़ें 👉  इग्नू का 37वाँ दीक्षांत समारोह 20 फ़रवरी 2024 को आयोजित होगा……

कु.निकिता को सांत्वना की श्रेणी में रखा गया।निर्णायक की भूमिका में डॉ. देवेन्द्र चौहान, डॉ. जुनीष कुमार, डॉ. चंद्रप्रभा भारती ने निभाई। इस अवसर पर डॉ. प्रवीन जोशी, डॉ. तनु मित्तल, डॉ. वंदना चौहान, डॉ प्रियंका अग्रवाल, डॉ नंदी गाड़िया, डॉ अभिषेक गोयल, डॉ हीरा सिंह, डॉ मोहन कुकरेती इत्यादि उपस्थित रहे।यह सप्ताह हिन्दी विभाग द्वारा हिन्दी सप्ताह के रूप में मनाया जा रहा है. इसके अंतर्गत महाविद्यालय में अनेक कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे।

Leave a Reply