उत्तराखण्ड ज़रा हटके

राष्ट्रीय हिंदी दिवस के अवसर पर भक्तदर्शन राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के जंतु विज्ञान सभागार में की गयी संगोष्ठी आयोजित….

ख़बर शेयर करें -

जयहरीखाल- राष्ट्रीय हिंदी दिवस के अवसर पर भक्तदर्शन राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के जंतु विज्ञान सभागार में संगोष्ठी आयोजित की गयी. प्रभारी प्राचार्य प्रो. शैलेंद्र मधवाल की अध्यक्षता में समस्त संकायों के प्राध्यापक तथा विद्यार्थियों के समक्ष सभा का संचालन करते हुए हिंदी विभाग प्रभारी उमेश ध्यानी ने छात्र समूह से 14 सितंबर को हिंदी दिवस को भारतीय संघ के राजभाषा निर्धारण दिवस के रूप में स्पष्ट किया तथा राजभाषा के संवैधानिक प्रावधानों को स्पष्ट किया.

वनस्पति विज्ञान के प्रभारी डॉ. राकेश कुमार द्विवेदी ने हिंदी में वैज्ञानिक विषय अध्ययन पर प्रकाश डाला. विज्ञान संकाय के छात्र नवनीत रावत ने हिंदी की राजभाषा के अवधारणा पर चर्चा की, शिक्षक शिक्षा संकाय के नवीन लखेड़ा तथा स्वाति भट्ट ने भी सभा को संबोधित किया. वनस्पति विज्ञान विभाग के प्राध्यापक डॉ. दिवाकर बेबनी, रसायन विज्ञान विभाग के डॉ. मोहम्मद शहजाद

यह भी पढ़ें 👉  पहले भीड़ को उकसाया, फिर पुलिसकर्मी को बचाते हुए बनाया वीडियो; मौकिन की इस हरकत से सभी हैरान.....

तथा भूगोल विभाग की प्रभारी डॉ. अर्चना नौटियाल ने हिंदी भाषा के विविध पक्षों को स्पष्ट किया. संगोष्ठी का समापन सभी के हिंदी के विकास में सहभागी होने के निश्चय के साथ हुआ. इस कार्यक्रम में डॉ. संजय मदान, पवनिका चंदोला, डॉ. आर.के.सिंह, डॉ. विनीता, डॉ. कृतिका क्षेत्री, डॉ. शिप्रा, डॉ. वंदना बहुगुणा, डॉ. शुभम काला, डॉ. नेहा शर्मा, डॉ. रेखा यादव आदि महाविद्यालय के प्राध्यापक उपस्थित थे।

Leave a Reply