उत्तराखण्ड क्राइम रुद्रपुर

झनकईया क्षेत्र के भारामल में पुलिस ने किया सनसनीखेज डबल मर्डर का खुलासा…..

ख़बर शेयर करें -

हत्या में शामिल 03 अभियुक्तों को किया गिरफ्तार।

आरोपियों से मंदिर से लूटे गए पैसे व अन्य सामग्री बरामद।

पूर्व में भारामल मंदिर में सेवादार रह चुका है मुख्य अभियुक्त।

रंजिश के चलते की गई थी हत्या।

भंडारे के दौरान आए चढ़ावे के पैसे देखकर बनाई लूट व हत्या की योजना।

3 हफ्ते की कड़ी मेहनत, 1200 लोगो से पूछताछ, 1000 से ज्यादा पूर्व अपराधियों का सत्यापन तथा 1500 सीटीटीवी कैमरो की फुटेज चैक करने पर टीम को मिली सफलता।

एसएसपी महोदय द्वारा पुलिस टीम हेतु 2,500 रुपए, डीआईजी महोदय द्वारा 5,000 रुपए व डीजीपी उत्तराखंड महोदय द्वारा भी पुलिस टीम हेतु की गई नकद इनाम की घोषणा।

रुद्रपुर- थाना झनकईया क्षेत्र के सुरई वनरेंज में स्थित बाबा भारामल सिद्धीठ जो कि स्थानीय एंवम उ०प्र० के सरहदी जनपद/नेपाल के सरहदी क्षेत्र के आस्था एंव अराधना का केन्द्र है, में दिनांक 04/05-01-2024 की मध्य रात्रि को अज्ञात अभियुक्तगणो द्वारा सिद्धपीठ के महन्त श्री हरिगिरी महाराज एंवम उनके सेवादार रुप सिह बिष्ट की नृशंष हत्या की गयी साथ ही साथ उनेक मुख्य सेवादार श्री नन्हे की गम्भीर रुप से घायल करते हुये आम जनमानस को झंकझोर कर देने वाली घटना कारित करी।

 

चूंकि उक्त घटनास्थल चारो ओर से किसी भी वाहन मार्ग से 07-08 किलोमीटर घने जंगल के भीतर का था तथा किसी भी प्रकार की मोबाईल कनेक्टीविटी न होने के कारण उक्त घटना की सूचना दिनांक 05/01/2024 को समय लगभग 11.00 बजे प्रातः प्राप्त हुयी जिस पर तत्काल थाना पुलिस द्वारा उच्चाधिकारीगणो को सूचना से अवगत कराते हुये घटनास्थल की ओर रवाना हुये। तथा मृतक बाबा हरिगिरी के भाई श्री सुखपाल की तहरीर के आधार पर घटना के सम्बन्ध में थाना हाजा में मु०अ०स० 11/2024 धारा 302/307 भादवि0 बनाम अज्ञात पंजीकृत किया गया।

 

श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा खुलासे हेतु स्वंय घटनास्थल पर आकर टीम का नेतृत्व करते हुये जनपद के अन्य उच्चाधिकारीगण श्रीमान पुलिस अधीक्षक अपराध, पुलिस अधीक्षक रुद्रपुर, पुलिस अधीक्षक काशीपुर, अपर पुलिस अधीक्षक/क्षेत्राधिकारी खटीमा, सहायक पुलिस अधीक्षक उधम सिह नगर को तत्काल मौके पर ही ब्रिफ करते हुये जनपद के 08 थानाध्यक्ष, एसओजी प्रभारी मय एसओजी टीम, एनटीएफ प्रभारी मय टीम तथा श्रीमान उप महानिरीक्षक कुमाऊ मण्डल महोदय के निर्देशन पर जनपद चम्पावत एवंम जनपद नैनीताल से भी तेजतर्रार पुलिसकर्मीयो की एक टीम भी घटनास्थल पर पहुंची।

यह भी पढ़ें 👉  सारथी फाउंडेशन समिति ने बाबा नीब करोली महाराज के कैंची धाम के स्थापना दिवस के अवसर पर प्रसाद वितरण किया.....

 

एसएसपी महोदय के निर्देशन पर 15 टीमो का गठन करते हुये हर टीम को एक नियत कार्य सौंपा गया।  आमजनमानस की भावनाओं के दृष्टिगत इस जघन्य दोहरे हत्याकाण्ड पर श्रीमान पुलिस उपमहानिरीक्षक कुमांऊ मण्डल महोदय ने घटनास्थल पर पहुंचकर घटना का निरीक्षण कर अनावरण हेतु लगी पुलिस टीमों को ब्रीफ किया गया।

 

 

अनावरण हेतु पुलिस कार्यवाही-

पुलिस टीमो द्वारा घटना के सफल अनावरण हेतु तकनिकी सर्विलांस, जनपद स्तरीय फौरेंसिक टीम व डाग स्कावड द्वारा साक्ष्य संकल्न व निरीक्षण घटनास्थल, स्थानीय स्तर पर सूचना संकल्न, पूर्व अपराधियों का सत्यापन एंवम पूछताछ, घटना से पूर्व हुये भण्डारे में आये दुकानदारों, संदिग्ध व्यक्तियों का सत्यापन, घुमन्तु जनजाति के आपराधिक पृष्ठभूमी के व्यक्तियों का सत्यापन, घटनास्थल के चारो ओर स्थित जंगल की कौम्बिगं,

 

स्थानीय एंवम सरहदी गांवो के नशेडी एंवम आपराधिक प्रवृति के व्यक्तियों का सत्यापन, प्रदेश के सरहदी जनपदो के आपराधिक प्रवृति के व्यक्तियों का सत्यापन, विगत एक वर्ष में जिला कारागार बरेली, पीलीभीत, हल्द्वानी से रिहा लूट, नशाखोरी, हत्या, डकैती के अपराधियों का सत्यापन किया गया। सुरागरसी पतारसी करते हुये पुलिस टीम द्वारा क्षेत्र के होटल, धर्मशाला, गैस्टहाउस की चैकिंग रेगुलेटर पुल, खण्डजा मार्ग में कार्यरत बाहरी मजदूर, वन विभाग की कटान की लेबर, वन विभाग के अस्थायी कर्मचारीयों का सत्यापन व पूछताछ, स्थानीय दुकानदारो से पूछताछ आदि की गयी।

 

इस दौरान पुलिस टीमो द्वारा लगभग 1200 लोगो से पूछताछ की गयी तथा आपराधिक पृष्ठभूमी के लगभग 1000 से ज्यादा पूर्व अपराधियों का सत्यापन एंवम पूछताछ की गयी अज्ञात अभियुक्तगणो के आने एंवम जाने के सम्भावित मार्गों में लगे हुये सीसीटीवी कैमरो की जांच आदि कार्यवाही के दौरान स्थानीय तथा जनपद पीलीभीत बरेली के लगभग 1500 सीटीटीवी कैमरो की फुटेज को चैक किया गया।

 

इसी दौरान सर्विलांस टीम को कुछ संदिग्ध व्यक्तियों के मोबाईल नम्बरो का घटना के दिन एंवम समय में घटनास्थल के आसपास संदिग्ध गतिविधी दिखायी दी। जिस पर तुरन्त उच्चाधिकारियों के निर्देशन में कार्यवाही करते हुये टीम द्वारा उक्त नम्बरो का सत्यापन किया गया। सत्यापन एंवम सुरागरसी पतारसी से अभियुक्तगण 01- कालीचरण उम्र 52 वर्ष लगभग, 02- पवन उम्र 34 वर्ष लगभग, 03- रामपाल उम्र लगभग 62 वर्ष निवासीगण पीलीभीत का उक्त घटना को कारित करना ज्ञात हुआ।

यह भी पढ़ें 👉  मानवाधिकार और अपराध नियंत्रण संगठन की कार्यकारिणी का विस्तार और शपथ ग्रहण समारोह……..

 

जिस पर तत्काल अलग-अलग पुलिस टीमो द्वारा उपरोक्त अभियुक्तगणो को दिनांक 27/01/2024 की रात्रि को गिरफ्तार किया गया तथा अभियुक्तगणो के कब्जे से बाबा भारामल से लूटे गये रुपये, इन्टरनेट डोगंल, बाबा हरिगिरी का बैग, शांल, एक आधार कार्ड, पहचान पत्र तथा नन्हे का एक पैन कार्ड, बाबा भारामल की पर्ची रसीद व घटना कारित करने में प्रयुक्त एक दरांती व एक टार्च बरामद हुआ।

 

 

अभियुक्तगणो से पूछताछ-

दौराने पूछताछ अभियुक्तगणो द्वारा बताया गया कि अभियुक्तगणो में से अभियुक्त रामपाल व कालीचरण आपस में सगे भाई है तथा कालीचरण पूर्व में लगभग पांच वर्षों तक बाबा भारामल सिद्धीठ सेवादार के रुप में रह चुका है तथा वहां के सभी आने व जाने के मार्गो से भली भांति परिचित है। तथा वर्तमान में अभियुक्त रामपाल बरखेडा जिला पीलीभीत के शमशान घाट में औघङ बाबा के रुप में रह रहा है। अभियुक्त कालीचरण एंवम पवन मजदूरी का काम कर रहे है।

 

कुछ समय पूर्व अभियुक्त कालीचरण बाबा भारामल में जाकर शराब पी रहा था तो मृतक बाबा हरिगिरी द्वारा इसको डांटकर वहां से भगा दिया था। इस बात की रंजिश इसने मन में बना ली। घटना से पूर्व दिनांक 25/12/2023 से हुये भण्डारे में कालीचरण एंवम पवन आये थे । भण्डारे में भीङ एवंम चङावे को देखकर इनके मन में लालच आ गया । उसी दौरान इन दोनो ने बाबा भारामल में लूट की योजना बना ली।

 

इस योजना के क्रियांवयन के लिये इन दोनो ने रामपाल को भी योजना में शामिल कर लिया। तत्पश्चात योजना के तहत उक्त तीनो अभियुक्तगण दिनांक 04/01/2024 को पीलीभीत से मैजिक वाहन द्वारा खटीमा पहुंचे तथा आटो से एंवम पैदल चलकर शाम के समय बाबा भारामल सिद्दीठ पहुंचे तथा अपने को छुपाये रखा व रात्रि करीब 11.00 बजे घटना हेतु अनुकूल समय आने पर इनके द्वारा लूट की घटना कारित करने के दौरान बाबा हरिगिरी के जगने पर इनके द्वारा साथ लायी दरांती से आस-पास के पेड़ो से काटे गये डण्डों से बाबा हरिगिरी पर वार कर उनकी हत्या कर दी एवंम हो-हल्ला होने पर उनके सेवादार नन्हे के आने पर उस पर भी हमला कर दिया

यह भी पढ़ें 👉  पौड़ी पुलिस ने गुम हुये फोन को सकुशल किया फोन स्वामी के सुपुर्द……

 

जिसको मरा समझकर पुनः दानपात्र से पैसे निकालने लगे इसी बीच दूसरे सेवादार रुप सिह बिष्ट के आता देख उसकी भी डण्डो से पीटकर हत्या कर दी। व घटना के बाद पैदल पैदल ही सूखानदी पुल को पार कर जंगल में छीप गये व प्रातः छिपते -छिपाते वापस पीलीभीत लौट गये। पूछताछ में अभियुक्तगणो द्वारा यह भी बताया गया कि अभियुक्त कालीचरण ने मृतक बाबा हरिगिरी के द्वारा शराब पीने पर टोकने के कारण भी उनको डण्डे से मारकर हत्या की गयी। अभियुक्त पवन थाना सुनगङी जनपद पीलीभीत का हिस्ट्रीशीटर एंवम गैंगस्टर भी है जिस पर उक्त थाने में आधा दर्जन अभियोग पंजीकृत है।

 

 

विवेचनात्मक कार्यवाही-

अभियुक्त कालीचरण की गिरफ्तारी व पूछताछ के बाद बाबा भारामल सिद्धपीठ जाने वाले मार्ग में माल बरामदगी के दौरान पुलिस अभिरक्षा से भागने का प्रयास किया, इस प्रयास में अभियुक्त हङबङी में गिरने के कारण पैर व हाथ में चोट आ गयी। जिसको नियमानुसार उपचार कराया गया। दौराने विवेचना अभियुक्तगणो द्वारा घटना को एक साथ मिलकर कारित करने, लूट की रकम व अन्य दस्तावेज व सामान अभियुक्तगणो से बरामद होने पर मुकदमे में धारा 34/120 (बी)/458/394/411 भादवि0 की बङोतरी की गयी।

 

 

नाम पता गिरफ्तार अभियुक्त

1-रामपाल पुत्र बिहारीलाल निवासी रामलीला कलौनी थाना सुनगढी जिला पीलीभीत उ०प्र० हाल निवासी अमखडिया मौहम्दगंज थाना बरखेडा तह० बिसलपुर जनपद पीलीभीत उ०प्र०,

2- पवन कुमार पुत्र जीसुखलाल निवासी राजीव कलौनी थाना सुनगडी जिला पीलीभीत उ०प्र०,

3-कालीचरण पुत्र बिहारीलाल निवासी पकङिया नौगांव टीपीनगर जिला पीलीभीत उ०प्र०,

अभियुक्तगणो का आपराधिक इतिहास-

पवन कुमार पुत्र जीसुखलाल थाना सुनगङी जिला पीलीभीत –

1- मु0अ0स01079/15 धारा 380/411 भादवि0

2- मु0अ0स0 686/17 धारा 457/380/411 भादवि0

3- मु0अ0स0 04/18 धारा 393 भादवि0

4- मु0अ0स0 07/18 धारा 8/20 एनडीपीएस एक्ट व धारा 41/411 भादवि0

5- मु0अ0स0 41/18 धारा 2/3 गैंगस्टर एक्ट

 

बरामदगी-

1- रामपाल से रुपये 4800/- नगद, एक अदद टार्च बरंग नारंगी पट्टी

2- पवन के कब्जे से रुपये 3700/- नगद, एक अदद मोबाईल जिओ कम्पनी रंग काला

4- एक अदद लोहे की दरांती

3- कालीचरण के कब्जे से 4700/- नगद, एक अदद मोबाईल जिओ कम्पनी

5- एक अदद इन्टरनेट डोंगल

Leave a Reply