उत्तराखण्ड ज़रा हटके रुद्रपुर

गुरु नानक बालिका इंटर कॉलेज में उत्तराखंड संस्कृत अकादमी द्वारा दो दिवसीय संस्कृत महोत्सव का किया गया शुभारम्भ….

ख़बर शेयर करें -

रूद्रपुर- श्री गुरु नानक बालिका इंटर कॉलेज में उत्तराखंड संस्कृत अकादमी द्वारा आयोजित दो दिवसीय संस्कृत महोत्सव का मेयर रामपाल सिंह एवं मुख्य शिक्षा अधिकारी आर सी आर्य, श्री गुरूनानक शिक्षा समिति के प्रबंधक गुरमीत सिंह ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारम्भ किया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि मेयर रामपाल सिंह, मुख्य शिक्षा अधिकारी आरसी आर्या, जिला शिक्षा अधिकारी डी एस राजपूत, श्रीमती अंजू रामपाल सिंह,

श्री गुरूनानक शिक्षा समिति के प्रबंधक गुरमीत सिंह का विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती प्रीति अग्रवाल, खंड संयोजक अंकित पाण्डे, जनपद संयोजक सुभाष मिश्रा, विद्यालय की वरिष्ठ संस्कृत प्रवक्ता श्रीमती जानकी पंत ने स्वागत एवं बैज अलंकरण किया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि मेयर रामपाल सिंह ने उत्तराखण्ड संस्कृत अकादमी द्वारा किये जा रहे प्रयास की सराहना की। उन्होंने कहा कि बदलते दोर में युवा पीढ़ी को संस्कृति से रूबरू कराना जरूरी है।

यह भी पढ़ें 👉  ADG प्रशासन ने बनभूलपुरा क्षेत्र का लिया जायजा, नई चौकी का किया स्थलीय निरीक्षण, दिए निर्देश...

अपनी संस्कृति को संजाये रखने के लिए इस तरह के प्रयास सार्थक साबित होंगे। उन्होंने कहा कि मोबाइल क्रांति के दौर में आज युवा वर्ग संस्कृत भाषा और संस्कृति को भूलता जा रहा है। विद्यालय स्तर से ही इस तरह के प्रयास हों तो हम अपनी संस्कृति को निश्चित रूप से बचा पायेंगे। मुख्य शिक्षा अधिकारी ने भी संस्कृत भाषा के अधिकाधिक प्रचार प्रसार पर जोर दिया। सांस्कृति प्रस्तुति देने वाले प्रतिभागियों की भी सराहना की। श्री गुरूनानक शिक्षा समिति के प्रबंधक स. गुरमीत सिंह ने समस्त अतिथियों का स्वागत करते हुए

यह भी पढ़ें 👉  मलिक के कारोबार में हर जगह झोल ही झोल, हर साल होती है 50 लाख की आय…..

 

अकादमी के द्वारा किये गये कार्यक्रम एवं विद्यालय में किये जा रहे अपने सहयोग एवं संस्कृत प्रतिभागियों की प्रशंसा की। विद्यालय प्रधानाचार्या श्रीमती प्रीति अग्रवाल ने समस्त अतिथियों का आभार व्यक्त किया। खंडसंयोजक अंकित पांडे एवं जिला संयोजक सुभाष मिश्रा एवं श्रीमती जानकी पंत ने विभिन्न कार्यक्रमों का प्रस्तुतीकरण एवं विभिन्न स्तरों पर संचालन की जानकारी दी। कार्यक्रम में वरिष्ठ एवं कनिष्ठ वर्ग के संस्कृत समूह गीत, संस्कृत समूह नृत्य, नाटक, श्लोकोच्चारण, आशु भाषण, वाद विवाद आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया।

Leave a Reply