उत्तराखण्ड ज़रा हटके

जन संघर्ष विकास समिति, रिखणीखाल का गठन किया गया……

ख़बर शेयर करें -

रिखणीखाल- विकास खंड रिखणीखाल में व्याप्त समस्याओं के समाधान के लिए जन संघर्ष विकास समिति का गठन किया गया। यह समिति गैर राजनीतिक संगठन के रूप में कार्य  करेगी।जिसमें सर्व सम्मति से गुमान सिंह नेगी को संयोजक नियुक्त किया गया।इस सभा में क्षेत्र के चक्रधर प्रसाद  घिल्डियाल, बीरेन्द्र  सिंह रावत, ओमप्रकाश बडोला, मनोज रावत, दिनेश रावत, हीरा सिंह  बिष्ट, प्रमोद रावत, रवींद्र रावत, देवेन्द्र  बिष्ट, धनबीर सिंह बिष्ट आदि लोग उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें 👉  जिला कांग्रेस के पदाधिकारियों ने बहुचर्चित उद्यान विभाग घोटाले में कार्यवाही की मांग को दिया ज्ञापन.....

 

सभा के अन्त में एक ज्ञापन खंड विकास अधिकारी के मार्फत माननीय मुख्य मंत्री उत्तराखण्ड को दिया गया।जिसमें सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रिखणीखाल की बदहाल चिकित्सा सुविधाओं का उल्लेख  किया  गया है।इस स्वास्थ्य केंद्र में  मूलभूत सुविधायें न होने के कारण एक रैफरल सेन्टर के रूप में गिनती की जाती है,

यह भी पढ़ें 👉  ‌श्रीमद देवी भागवत कथा का  सप्तम दिवस, श्रीमद् देवी भागवत चलता फिरता मानसरोवर है।

 

जैसे  स्वास्थ्य केन्द्र में एक्स रे मशीन तो मौजूद  है लेकिन उसको संचालन करने वाला तकनीशियन नहीं है।मशीन जंक खा चुकी  है लेकिन  तकनीशियन नियुक्त  नहीं हुआ। तथा अल्ट्रासाउंड मशीन  न होने कारण लोगों को शहरी क्षेत्रों का रुख करना पडता है,जो सभी लोगों के लिए  सम्भव नहीं है।

यह भी पढ़ें 👉  मां भद्रकाली दिव्य देव डोली का स्थापना दिवस विधि विधान के साथ संपन्न......

 

धनाभाव के कारण  मन मसोटकर चुपचाप रहना पड़ता  है।कर्मचारियों का भी अभाव  देखने को मिलता है। उन्होनें मांग की है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रिखणीखाल में एक कुशल तकनीशियन की नियुक्ति व अल्ट्रासाउंड मशीन उपलब्ध करायी जाये।ताकि लोग  रैफरल सेन्टर सा न पुकारें।

Leave a Reply