उत्तराखण्ड ज़रा हटके देहरादून

राज्य महिला आयोग ने सशक्त नारी सम्मान समारोह कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य कर रही 13 महिलाओं को किया सम्मानित …..

ख़बर शेयर करें -

देहरादून/कोटद्वार- मंगलवार को आई आर डी टी सभागार, देहरादून में उत्तराखंड राज्य महिला आयोग ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष में सशक्त नारी सम्मान समारोह का आयोजन किया। इस कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली 13 महिलाओं को सम्मानित किया कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी  वर्चुअल माध्यम से शामिल हुए एवं कार्यक्रम में उपस्थित जनों को शुभकामनाएं दी। वहीं कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन विशिष्ट अतिथि कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल, महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कण्डवाल, राज्यमंत्री मधु भट्ट, राज्यमंत्री विनोद उनियाल, आशा नौटियाल, नेहा जोशी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलन कर किया।

 

वंदे मातरम गीत के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ वहीं गणेश वंदना और माँगल गीत से अतिथियों का स्वागत किया गया।कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली इन महिलाओं को सम्मानित किया गया प्रो सुरेखा डंगवाल (कुलपति दून विवि)शिक्षा के क्षेत्र में प्रोफेसर रेनू प्रकाश शिक्षा के क्षेत्र मे डॉ रीमा पन्त प्रौद्योगिकी शिक्षा में अनुभव आत्मक शिक्षा के क्षेत्र में

पी रेणुका (डीआईजी पुलिस विभाग) महिला सुरक्षा के क्षेत्र में

यह भी पढ़ें 👉  एसएसपी उधमसिंहनगर डॉ0 मंजुनाथ टीसी का कड़ा सन्देश, हुड़दंगियों को किसी भी कीमत में नहीं जायेगा बख्शा..... 

डॉ कंचन नेगी पत्रकारिता के क्षेत्र में

कृष्णा रावत डोभाल पत्रकारिता व करियर काउंसलिंग के क्षेत्र में

साधना शर्मा सामाजिक कार्यों के क्षेत्र में

रमा गोयल सामाजिक कार्यों के क्षेत्र में

वसुंधरा नेगी कला एवं नाटक मंचन के क्षेत्र में

सृष्टि भारद्वाज लोक नृत्यांगना के क्षेत्र में

अदिति शर्मा ट्रांसजेंडर उद्यमी स्वरोजगार के क्षेत्र में

हेमा परिहार महिला उद्यमी समूह द्वारा स्वावलंबन के क्षेत्र में

सुमन चौहान जैविक कृषि के क्षेत्र में

वर्चुअल रूप से जुड़ते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कार्यक्रम में पहुंची मातृशक्ति को नमन व वंदन करते हुए कहा कि इस प्रकार के कार्यक्रम और अभियान समाज के सभी पहलुओं पर विविधता और सशक्तिकरण के महत्व पर जोर देते हुए लैंगिक समानता हासिल करने में समावेशन की महत्वपूर्ण भूमिका को भी रेखांकित करते हैं। इसी दृष्टिकोण से आज का यह कार्यक्रम हम उन सभी 13 उत्कृष्ट महिलाओं को समर्पित करते हैं जिन्होंने अलग-अलग क्षेत्र में अपनी प्रतिबद्धता के माध्यम से मिसाल कायम कर समाज में प्रगति और समानता का मार्ग प्रशस्त किया और अपनी एक अलग पहचान बनाई है।

यह भी पढ़ें 👉  क्षेत्राधिकारी कोटद्वार श्री विभव सैनी द्वारा किया गया कोतवाली कोटद्वार का अर्द्धवार्षिक निरीक्षण........

 

मुझे खुशी है कि यह कदम महिलाओं को आर्थिक स्वतंत्रता प्रदान करने में सहायक होगा और समाज में महिलाओं की भूमिका को भी मजबूती प्रदान करेगा।इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने मातृशक्ति को संबोधित करते हुए भावुक स्वर में कहा कि आठ मार्च के दिन मेरी माँ का निधन हुआ था और कुछ सालों बाद आठ मार्च के दिन ही घर में बेटी पैदा हुई। यह दिन पूरे परिवार का दिन रहा है। महिलांए पहाड़ की रीढ़ है, आज महिलाएं खेती करना छोड़ दें तो उत्तराखंड में खेती का अस्तित्व ही खत्म हो जाएगा। महिलाओं के अंदर काम करने को जो विधा है वो पुरुष में नहीं है। हिम्मत करनी चाहिए जो हिम्मत करता है उसे ही जीत मिलती है।

 

उन्होंने कहा कि आज हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में महिलाएं सशक्त हो रही है साथ ही हमारी सरकारें महिलाओं के लिए अत्यंत संवेदनशील है हमारी सरकार महिलाओं को हर प्रकार से सशक्त कर रही है। महिलाएं आज अपने दमखम देश दुनिया को दिखा रही है।कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने बेटियों व महिला सुरक्षा के साथ साथ हिंसा के विरुद्ध आवाज उठाने के लिए आयोग द्वारा संचालित शपथ भी दिलाई।

यह भी पढ़ें 👉  पौड़ी पुलिस ने ए.सी कम्प्रेशर से कॉपर की तार चोरी करने वाले शातिर चोर को चोरी के माल सहित किया गिरफ्तार….

 

इस अवसर पर आयोग की अध्यक्ष व कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही कुसुम कण्डवाल ने कहा कि आज आयोग घरेलू हिंसा के केसों का समाधान करने के अलावा, महिला अधिकारों की रक्षा व जागरूकता हेतु कार्यक्रम करता है साथ ही विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य कर रही महिलाओं को आगे लाकर उन्हें सम्मानित करने का भी काम करता है। उन्होंने कार्यक्रम में सभी का धन्यवाद करते हुए राज्य की समस्त मातृशक्ति को अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिसव की शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम के दौरान संध्या जोशी की टीम द्वारा द्रोपदी नाटक का मंचन की प्रस्तुति दी गयी।कार्यक्रम में महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष राज रावत, सरोजिनी कैंत्यूरा, पूर्व उपाध्यक्ष सायरा बानो सहित आयोग की पूर्व सचिव सुजाता, आशारानी ध्यानी, रामिन्द्री मंद्रवाल, कामिनी गुप्ता, नेहा सिंह को भी आयोग अध्यक्ष द्वारा सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन बीना गिरी द्वारा किया गया।

Leave a Reply