उत्तराखण्ड ज़रा हटके नैनीताल

हिमालय के पर्यावरणीय चिंताएं विषय पर सेमिनार वेबिनार के माध्यम से किया गया आयोजित …

ख़बर शेयर करें -

नैनीताल-वनस्पतिशास्त्री और वर्गीकरण शास्त्री स्वर्गीय प्रो यशपाल सिंह पांगती को चतुर्थ पुण्यतिथि पर प्रो वाई पी एस पांगती रिसर्च फाउडेशन की तरफ से हिमालय के पर्यावरणीय चिंताएं विषय पर सेमिनार वेबिनार के माध्यम से आयोजित किया गया। कुलपति प्रो एन के जोशी ,प्रो सुनील नौटियाल निदेशक पर्यावरण संस्थान कोसी ,हिमांचल के पूर्व पी सी सी एफ  बी डी सुयाल हल्द्वानी फॉरेस्ट शोध संस्थान के मदन सिंह बिष्ट को उनके उल्लेखनीय कार्य के लिए प्रो वाई पी एस पांगती मेमोरियल अवार्ड से सम्मानित किया गया।

 

वेनिनार में फाउंडेशन के अध्यक्ष डॉक्टर बी एस कालाकोटी ने सभी का स्वागत किया डॉक्टर मीना पांडे, पुणे ने सभी का धन्यवाद दिया ।कार्यक्रम का संचालन प्रो जी एस रावत देहरादून एवम प्रो ललित तिवारी ने किया ।डॉक्टर एस एस सामंत पूर्व निदेशक एच एफ आर आई शिमला ने पुरुस्कार की घोषणा की । सेमिनार में अपने संबोधन में प्रो एन के जोशी ने कहा की माउंटेंस 12 प्रतिसत पृथ्वी का भाग है 50प्रतिसत जैवविविधता तथा 50प्रतिसत जनसंख्या यही निवास करती है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में संपन्न हुई योगी की विजय संकल्प रैली…..

हिंदुकुश पर्वत के नीचे 210मिलियन लोग रहते है।उन्होंने कहा की परिस्थिति तंत्र के संरक्षण के लिए जैव विविधता संरक्षण जरूरी है।निदेशक प्रो सुनील नौटियाल ने भारत चीन में जलवायू परिवर्तन पर व्याख्यान दिया उन्होंने कहा के क्योटो प्रोटोकॉल तथा कोपेनहेगन सम्मेलन के बाद इंसान को ज्यादा सतर्क रहने को कहा गया है ताकि पर्यावरण सतत विकास में संरक्षित रहे। चीन में 54 प्रतिसत कार्बन उत्सर्जन बड़ा तो भारत मे 13प्रतिसत बड़ा है।

 

कार्बन डाइऑक्साइड यू एस ए में 15चीन में 31भारत में 7प्रतिसत बड़ी है। पिछले 20बरसो में यू एस ए में 1000चीन में 492जापान में 376तो भारत में 100 ब प्राकृतिक आपदा आई है जो जलवायु परिवर्तन के कारण हुई है।उन्होंने उत्तरीय ध्रुव के गलन तथा जनसंख्या वृद्धि पर भी बात रखी तथा कहा की हम संवेदन शील के साथ अपने आप में रचनात्मकता लानी होगी। प्रो नौटियाल ने ग्रीन इकोनॉमी पर भी चर्चा की। पूर्व पी सी सी एफ हिमाचल बी डी सुयाल ने कहा की हिमाचल उत्तराखंड जम्मू कश्मीर में ज्यादा प्रतिसत जंगल है

यह भी पढ़ें 👉  रेल पटरी की फिश प्लेट चुराने वाले बदमाश गिरफ्तार......

 

तथा नॉर्थ ईस्ट में 61प्रतिसत है जबकि बाकी राज्यों में बहुत कम जो 5 प्रतिसत के आस पास है।इसलिए कम कार्बन तथा प्लास्टिक पर पूर्ण प्रतिबंध जरूरी है।रेंजर मदन सिंह बिष्ट ने बुरांस काफल कदंब महोगनी के साथ घरों में हेज गार्डन तथा इको टूरिम को बरावा तथा पलायन रुकने के लिए लेमन ग्रास रीठा तथा मेडिसिनल प्लांट की खेती करने की अपील की। पुरुस्कार में प्रशस्ति पत्र एवम शॉल प्रदान किया जाएगा।प्रो उमा मेलकानिया प्रो एस डी तिवारी डॉक्टर जे सी कुनियाल डॉक्टर आई डी भट्ट ने स्वर्गीय प्री वाई पी एस पांगती तथा स्वर्गीय डॉक्टर रणबीर सिंह रावल पर विचार रखे।

यह भी पढ़ें 👉  पीसीएस अफसर ने घर में फंदे से लटककर दी जान......

 

वक्ताओं ने उन्हें समर्पित तथा सकारात्मक के साथ प्राकृतिक प्रेमी एवम संरक्षण वादी कहा।अंत में प्रो वाई पी एस पांगती तथा डॉक्टर रावल के स्मृति में दो मिनट का मौन रखा गया।वेबिनर में प्रो एल एस लोधियाल डॉक्टर नीलू लोधियाल डॉक्टर सुषमा टम्टा,डॉक्टर नवीन पांडे डॉक्टर हर्ष चौहान प्रो भावना पाठक डॉक्टर मनीष बेलवाल,वसुंधरा शीतल डॉक्टर जी सी जोशी, प्रो बी आर पंत,डॉक्टर मदन एम पांडे प्रो बी एम पांडे प्रो रजनीश अग्निहोत्री डॉक्टर नंदन मेहरा दीक्षा बोरा पंकज पाठक,सहित 71प्रतिभागी शामिल हुए

Leave a Reply