उत्तराखण्ड ज़रा हटके रुद्रपुर

सेवा प्रकल्प संस्थान द्वारा संचालित दुधिया बाबा कन्या छात्रावास का वार्षिकोत्सव समारोह आयोजित…

ख़बर शेयर करें -

रूद्रपुर-(एम् सलीम खान)  सेवा प्रकल्प संस्थान द्वारा संचालित श्री दूधिया बाबा कन्या छात्रावास एवं वनवासी कल्याण आश्रम का संयुक्त वार्षिकोत्सव धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर छात्रावास की छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति देकर मन मोह लिया। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने भी कार्यक्रम में पहुंचकर संस्थान द्वारा किये जा रहे कार्यों की सराहना की एवं छात्रावास के बच्चों द्वारा मंच पर प्रस्तुत किये गये कार्यक्रमों की भूरि भूरि प्रशंसा करते हुए उनका उत्साह बढ़ाया।

 

मुख्य अतिथि इनोवा कैपटेब लिमिटेड के डायरेक्टर ज्ञान चन्द्र, दूधिया बाबा सन्यास आश्रम के महंत स्वामी शिवानंद जी महाराज,अंबिका प्लाईवुड के एमडी विरेन्द्र कुमार जिंदल, अखिल भारतीय बनवासी कल्याण आश्रम के केंद्रीय कार्यकारिणी सदस्य सुरेश राव कुलकर्णी, विशिष्ठ अतिथि संजय चिकारा, जिगनेश निकुंज मेहता, पवन अग्रवाल, प्रदीप कुमार मित्तल आदि ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। इसके पश्चात अतिथियों का स्वागत हुआ। अतिथियों के स्वागत में छात्राओं ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया। तत्पश्चात सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति देकर छात्राओं ने मन मोह लिया।

 

सांस्कृतिक कार्यक्रमों की श्रृंखला में सर्वप्रथम महिषासुर मर्दिनी नृत्य की शानदार प्रस्तुति दी गयी। बाद में दूधिया बाबा छात्रावास की छात्राओं ने तेरी मिट्टी में मिल जावा गीत पर नृत्य प्रस्तुत किया। इसके साथ ही सामूहिक नृत्य की ममनमोहक प्रस्तुति दी। मलखम्ब की शानदार प्रस्तुति ने सभी को आश्चर्यचकित कर दिया। सांस्कृतिक कार्यक्रमों में विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति कार्यक्रम के बीच बीच में चलती रही। छात्राओं ने योग आसनों का भी शानदार प्रदर्शन किया। इस अवसर पर मुख्य वक्ता इनोवा कैपटेब लिमिटेड के डायरेक्टर ज्ञान चन्द्र ने सेवा प्रकल्प संस्थान द्वारा किये जा रहे जनसेवा के कार्यों की सराहना की। उन्होंने कहा कि जमाज और देश की सेवा का जो काम सेवा प्रकल्प संस्थान कर रहा है वह अनुकरणीय है।

यह भी पढ़ें 👉  SST टीम द्वारा एक सवीफ्ट डिजायर कार से बरामद किये 06 लाख रुपए.......

 

मुख्य वक्ता सुरेश राव कुलकर्णी ने कहा कि अपने देश में विश्व की लगभग 19 प्रतिशत आबादी रहती है, जबकि अपने देश में विश्व के 55 प्रतिशत कुष्ठ रोगी है अर्थात विश्व के सर्वाधिक कुष्ठ रोगी भारत में पाये जाते है। कुष्ठ रोग सामान्य रूप से असाध्य माना जाता है और स्पर्श के द्वारा फैलने वाला भी माना जाता है। इसी भ्रांति के कारण से कुष्ठ रोगियों के स्वस्थ बच्चे रोग नहीं होने के बाद भी उन्हें कोई छूना तक पसन्द नहीं करता है, जिसके चलते उन्हें अपने माता पता के समान ही तिरस्कृत जीवन जीना पड़ता है।

 

कुष्ठ रोगियों के बालकों के लिए तो कुछ छात्रावास देश में अपने संगठन के द्वारा चलते है किन्तु बालिकाओं के लये हिन्दू संस्थाओं द्वारा देश में एक भी नहीं है। इसी आए इनकी बालिकायें जिन्हें रोग तो नहीं है, किन्तु अपने रोगी माता पाता की सन्तान होने के कारण समाज में सामान्य नागरिक बनने से वंचित न रह सकें। इस लिए सेवा प्रकल्प संस्थान द्वारा संचालित दूधया बाबा कन्या छात्रावास का शिलान्यास श्री 108 स्वामी शिवानन्द महाराज के आशीर्वाद से 30 जनवरी 2010 शनिवार को किया गया था। भूतल भवन निर्माण होने के उपरान्त 1 जुलाई 2012 को 13 बालिकाओं को छात्रावास में प्रवेश देकर छात्रावास प्रारम्भ हुआ।

 

वर्तमान में 150 बालिकायें नर्सरी से 12 तक की शिक्षा छात्रावास में रहकर शहर के सरस्वती शिशु मन्दिर इंटर कालेज श्री गुरु नानक इंटर कालेज,बालिका विद्या मन्दिर जूनियर हाई स्कूल जगतपुरा में अध्ययन कर रही है। छात्रावास में भोजन, आवास, शिक्षा, चिकित्सा विद्यालय आना जाना इत्यादि पूर्ण रूप से निशुल्क है। जिसका पूरा खर्च छात्रावास उठाता है। सभी बालिकाएं छात्रावास की बस से विद्यालयों में आती जाती है। सभी बालिकायें पढ़ने में आपछी स्थिति में है। विद्यालय शिक्षा के अलावा सभी बालिकाओं को टयूशन भी उपलब्ध कराता है।

यह भी पढ़ें 👉  नशे के विरुद्ध कार्यवाही करते हुए अभियुक्तता के कब्जे से बरामद किया गया6.390 किलोग्राम गांजा व इलेक्ट्रॉनिक तराजू......

 

विद्यालय शिक्षा के साथ साथ कम्प्यूटर, गायन वादन नृत्य पाक शिक्षा,योग बागवानी की भी शिक्षा दी जाती है। बालिकाओं को स्वावलंबन की दृष्टि से सभी को अपने सभी कार्य करने होते हैं साथ ही गौ सेवा खेल स्वच्छता में भी सहयोग करती है। वर्तमान में छात्रावास में दिल्ली, पंजाब, विहार एवं उत्तर प्रदेश के लखनऊ बरेली अयोध्या बाराबंकी बदायु, सम्भल, ब्रजघाट, रामपुर, अमरोहर भदोही, आजमगढ़ कछला जिलों की बलिकायें हैं। छात्रावास की सभी व्यवस्थाएं बिना सरकारी सहायता के संचालित की जा रही है। कार्यक्रम का संचालन  बरीत सिंह एवम  हरनाम चौधरी ने किया।

 

कार्यक्रम में प्राचीनदूधिया बाबा सन्यास आरम के महंत श्री श्री 108 स्वामी शिवानंद जी महाराज ने उनके लिए यह सौभाग्य की बात है कि उन्होंने जरूरतमंद छात्राओं की शिक्षा हेतु छात्रावास के लिए जमीन दी। वास्तव में छात्रावास की स्थापना ने यहां पर जंगल में मंगल कर दिया है। स्वामी शिवानंद महाराज ने कहा जो माननीय डाल चन्द्र जी की मेहनत और उनकी समाज के प्रति सकारात्मक सोच की वजह से ही यह संभव हुआ है। उनका स्वभाव और चरित्र वास्तव में समाज के लिए अनुकरणीय है उन्हें खुद भी उनसे बहुत कुछ सीखने को मिलता है। उन्होंने सादगी में रहते हुए समाज के निचले तबके के लिए अपना जीवन न्यौछावर कर दिया हैं। मैं सन्यासी होते हुए भी उनके जीवन से प्रेरणा लेता हूं।

यह भी पढ़ें 👉  कांग्रेस की मुश्किलें नहीं हो रही कम, जिला पंचायत अध्यक्ष ने पार्टी से इस्तीफा दिया, कांग्रेस प्रत्याशी प्रकाश जोशी पर भी आरोप.....

 

इस अवसर पर कार्यक्रम में आये संभ्रांत लोगों ने छात्राओं की शिक्षा के लिए किये जा रहे नेक कार्य की सराहना करते हुए इस पुनीत कार्य में अपना हरसंभव योगदान देने की बात कही। साथ ही सभी आगंतुकों ने छात्रावास की छात्राओं द्वारा मंच पर दी गयी प्रस्तुति की मुक्त कंठ से प्रशंसा की। वक्ताओं ने कहा कि जो बच्चों का जो प्रदर्शन मंच पर देखने को मिला है वास्तव में वह अभिभूत करने वाला है। ऐसा प्रदर्शन महंगे खर्च में शिक्षा देने वाले बड़े लेवल के स्कूलों में भी देखने को नहीं मिलता है। यह इस बात का प्रमाण है कि श्री दूधिया बाबा कन्या छात्रावास एवं वनवासी कल्याण आश्रम में रही रही छात्राओं को किताबी ज्ञान के साथ साथ रचनात्मक कार्यों में भी पूरी शिद्दत से तराशा जा रहा है। यह प्रयास निश्चित ही इन छात्राओं के बेहतर भविष्य के निर्माण में मील का पत्थर साबित होगा।

 

इस अवसर पर डॉक्टर दीपक छाबड़ा, डॉक्टर अंजू छाबड़ा, मोहन गोयल, हरविंदर सिंह विर्क, झम्मन लाल शर्मा, अशोक बंसल, राजू भुद्दी, अशोक अदलखा, दिनेश कपूर, हरीश मुंजाल, राकेश नागपाल, जोगेंद्र सिंह, सतीश गर्ग, आलोक गुप्ता, जसबीर डोगरा, गौतम कथूरिया, पवन अग्रवाल, सुभाष खंडेलवाल, अरविंद यादव, डॉक्टर रंजीत सिंह गिल, भगवान सहाय, मनोज अग्निहोत्री, अतुल बंसल सहित बहुत बड़ी संख्या में गणमानय लोग मौजूद थे।

Leave a Reply