उत्तराखण्ड ज़रा हटके

थलीसैंण में एंटी ड्रग्स सेल तथा राष्ट्रीय सेवा योजना के संयुक्त तत्वाधान में “नशा और उसके रोकथाम के उपाय के लिए किया गया कार्यक्रम का आयोजन……

ख़बर शेयर करें -

थलीसैंण- राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, थलीसैंण में एंटी ड्रग्स सेल तथा राष्ट्रीय सेवा योजना के संयुक्त तत्वाधान में “नशा और उसके रोकथाम के उपाय” विषय पर एक व्याख्यान कार्यक्रम का आयोजन हुआ | कार्यक्रम में व्याख्यान देते हुए वनस्पति विज्ञान विभाग प्रभारी डॉ छाया सिंह ने नशे से हमारे जीवन पर पड़ने वाले प्रभाव पर विस्तार से जानकारी दी | उन्होंने कहा कि नशे से दूर रहने के लिए हमें परिवार की मदद लेनी चाहिए | जब हम अपनी समस्यों को अपनों से साझा करेंगे तभी वह हमारी मदद कर पाएंगे |

योग भी एक तरीका है नशे से दूर रहने का | इसके पश्चात संस्कृत विभाग प्रभारी डॉ विनोद कुमार ने अपने सम्बोधन में कहा कि हमारा आत्मबल ही हमे नशे से दूर कर सकता है | अपनी संगति को हमें सही रखना होगा और नशे के लिए प्रेरित करने वाले हर प्रलोभन से हमें दूर रहना होगा; तभी हम नशे से बच सकते है |

यह भी पढ़ें 👉  अजय भट्ट के विशेष प्रयासों से लालकुआं-अमृतसर ट्रेन संचालन को मिली मंजूरी......

इस कार्यक्रम का आयोजन प्राचार्य डॉ रेनू रानी बंसल की अध्यक्षता में किया गया | कार्यक्रम का संचालन एंटी ड्रग सेल नोडल अधिकारी डॉ विवेक रावत के द्वारा किया गया | इस कार्यक्रम में डॉ सुधीर सिंह रावत, डॉ विकास प्रताप सिंह, डॉ धर्मेन्द्र कुमार, डॉ अजय कुमार, डॉ गिरीश चन्द्र आर्य, डॉ चन्द्रकान्त तिवरी, डॉ शिवानी धूलिया, धर्मेन्द्र सिंह उपस्थित रहे |

Leave a Reply