उत्तराखण्ड ज़रा हटके हल्द्वानी

डेंगू पसार सकता है पैर, साफ-सफाई पर दें विशेष ध्यान……

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। इंदिरा प्रियदर्शिनी राजकीय स्नातकोत्तर महिला वाणिज्य महाविद्यालय में एनएसएस एवं डा. सुशीला तिवाड़ी राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी के संयुक्त तत्वाधान में डेंगू की रोकथाम के लिए जागरूकता शिविर लगाया गया। महाविद्यालय की प्राचार्य प्रो. शशि पुरोहित ने कहा कि आज डेंगू एक महामारी का रूप ले चुका है। ऐसे में इस रोग की रोकथाम के लिए लोगों को जागरूक करना भी जरूरी है। शिविरों के माध्यम से इसकी जानकारी और भी लाभदायक और जरूरी हो जाती है।

यह भी पढ़ें 👉  पत्रकार संदीप पांडे ने ठोकी वार्ड नंबर 14 से दावेदारी, भाजपा मंडल अध्यक्ष धर्म सिंह कोहली को सौपा दावेदारी का पत्र…..

 

 

कार्यक्रम संयोजक एवं एनएसएस कार्यक्रम अधिकारी डा. रितुराज पंत ने कहा, शिविर का मुख्य मकसद शहर में बढ़ रहे डेंगू के केस और उसकी रोकथाम पर चर्चा करना है। शिविर में बतौर मुख्य वक्ता पधारे राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी के डा. दीपक जोशी ने कहा कि डेंगू एक विषाणु से होने वाली बीमारी है जो एडीज एजिप्‍टी नामक संक्रमित मादा मच्‍छर के काटने से फैलता है। ऐसे में हमें घरों के आसपास सफाई रखने की जरूरत है। घरों के आसपास पानी को इकट्ठा न होने दें। शिविर में उन्होंने अन्य जानकारियों भी दी। वहीं अन्य वक्ताओं ने भी डेंगू के मच्छर की संरचना और उसके जीवन चक्र पर प्रकाश डाला।

यह भी पढ़ें 👉  "यदि आप किसी के लिए एक दीपक जलाते हैं, तो यह आपके मार्ग को भी रोशन करेगा……

 

 

कार्यक्रम अधिकारी डा. ललिता जोशी ने डेंगू के लक्षण बताए। कहा, अचानक तेज बुखार, सिर में आगे की ओर तेज दर्द, शरीर की मांसपेशियों व जोडों में दर्द आदि इसके मुख्य लक्षण हैं। मेडिकल कालेज से आई टीम ने महाविद्यालय परिसर का निरीक्षण भी किया और महाविद्यालय को डेंगू फ्री जोन बताया। संचालन लेफ्टिनेंट डा. रेखा जोशी ने किया। इस अवसर पर डा. गीता पंत, यशोधर नाथ, नारायण सिंह आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply