उत्तराखण्ड ज़रा हटके नैनीताल

पर्यावरण की सुरक्षा हम सबकी सामूहिक जिम्मेदारीः प्रो. किरीत…..

ख़बर शेयर करें -

नैनीताल- कुमाऊं विवि के डीएसबी परिसर के प्रोफेसर राजेंद्र सिंह नैनो साइंस एंड टेक्नोलॉजी सेंटर डिपार्टमेंट ऑफ केमिस्ट्री के तत्वावधान में शुक्रवार से दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला शुरु हुई। उद्घाटन सत्र का शुभारंभ नोडल अधिकारी जीबी पंत कोसी कटारमल किरीत कुमार, कुमाऊं विश्वविद्यालय के कार्यवाहक कुलपति प्रो. संतोष कुमार, आईवीबी-आईआईटीएम के निदेशक श्रीनिवास, डीएसबी परिसर की निदेशक प्रो. नीता बोरा शर्मा तथा कार्यशाला के मुख्य समन्वयक प्रो. एनजी साहू नेे संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया।

यह भी पढ़ें 👉  विधायक शिव अरोरा ने पंजीकृत श्रम कार्ड धारको को वितरित की टूलकिट…….

 

कार्यशाला में भारत के विभिन्न प्रांतों से आए शोधार्थियों ने विभिन्न उपकरणों के बारे में जानकारी प्राप्त की। जीबी पंत कोसी कटरमाल के नोडल अधिकारी किरीत कुमार ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के प्रति हमें सामूहिक रूप से सोचने की सख्त जरुरत है।शोधार्थियों को रज्जू भैया विभाग में ले जाकर प्लास्टिक से ग्राफीन बनाने की प्रक्रिया बतायी गयी। साथ ही एनएमएचएस द्वारा प्राप्त पवित्रम परियोजना व इससे पर्यावरण पर पड़ने वाले प्रभावों के बारे में भी बताया गया।

यह भी पढ़ें 👉  डॉ मोहन सिंह बिष्ट का दबदबा बरकरार…….

 

कार्यशाला में पॉलीमर एक्सटरुडर, डीएससी थर्मल इवेपरेटर सिस्टम, यूवी स्पेक्ट्रोफोटोमीटर एवं स्वयंभू प्लांट जिसके माध्यम से वेस्ट प्लास्टिक से महत्वपूर्ण पदार्थ ग्राफीन की सेथिसिंस के की जानकारी भी छात्रों को दी गई। कार्यशाला में कुल सचिव दिनेश चंद्रा, अधिष्ठाता छात्रा कल्याण प्रोपफेसर संजय पंत, वरिष्ठ प्राध्यापक प्रो. ललित तिवारी, संकायाध्यक्ष प्रो.एमएस मवाड़ी, दीपक मेलकानी हरीश राणा तथा अभिषेक मेहरा आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply