उत्तराखण्ड ज़रा हटके रुद्रपुर

लुकास टीवीएस प्रबंधन के लगातार उत्पीड़न से तंग श्रमिकों का श्रम भवन में धरना जारी….

ख़बर शेयर करें -

रुद्रपुर (उत्तराखंड)- लुकास टीवीएस प्रबंधन की ओर से लगातार जारी उत्पीड़न प्रबन्धन की मनमानी के चलते श्रमिकों का  फिर से आन्दोलन करने को मजबूर किया गया। लुकास टीवीएस मजदूर संघ पन्तनगर के बैनर तले श्रम भवन रुद्रपुर में अनिश्चितकालीन पर धरना प्रदर्शन जारी कर दिया। इस बीच प्रबन्धन के द्वारा संगठन के सभी  सदस्यों को सप्ताह के बीच में शिफ्ट का परिवर्तन कर सुबह 7:00 से 5:30 बजे तक की शिफ्ट लगा दी जिसे मज़दूर धरने में शामिल न हो पाए।

 

जारी धरना के बाद सहायक श्रमायुक्त ऊधम सिंह नगर द्वारा त्रिपक्षीय वार्ता कर दिनांक 31/10/2023 की तिथि तय की गई। और साथ ही  श्रमिकों की कार्यबहाली, मांगपत्र, वेतन कटौती, झूठे आरोप लगाना व यूनियन को मान्यता न देना, संगठन के सदस्यों को यूनियन छोड़ने का दवाब बनाना जैसी बहुत सी  गतिविधियों के बाद 07  मांगों को लेकर लुकास टीवीएस मजदूर संघ लंबे समय से संघर्ष करते रहे है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी- बारिश का पानी बह गया,लेकिन दहशत बरकरार, 50 से अधिक घरों में घुसा था मलबा.....

 

वही यूनियन अध्यक्ष मनोहर सिंह मनराल ने कहा कि लुकास टीवीएस मजदूर संघ पंतनगर उत्तराखंड का पंजीयन 23 नंबर 2016 में हुआ जिसका पंजीयन नंबर 331 है।और जिसका  यूनियन भारतीय मजदूर संघ से सम्बद्ध है। यूनियन गठन के बाद से प्रबंधन को और से संगठन पदाधिकारी व सदस्यों पर झूठे आरोप लगाना नौकरी से निकालने का सिलसिला तेजी हो  रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  खाद्य आपूर्ति विभाग के क्षेत्रीय निरीक्षक ने किया पेट्रोल पंप का औचक निरीक्षण…..

 

 

वर्ष 2017 में संगठन के कार्यकारिणी अध्यक्ष दीपक देवरानी को पंतनगर से पहले पंजाब और कुछ महीने के बाद उन्हें चेन्नई भेज दिया गया। चेन्नई में कुछ वक्त तक कार्य कराने के बाद उन्हें परेशान कर के नौकरी से निकाल दिया गया। संगठन के अभी तक करीब 11 सदस्यों को झूठे आरोप लगाकर नौकरी से बर्खास्त कर दिया  ओर कुछ सदस्यों द्वारा अपना हिसाब ले लिया गया

यह भी पढ़ें 👉  भारत माता गांव वासीनी है, भारत की आत्मा गांव में बसती है- डाक्टर लल्लन शर्मा.....

 

और कुछ सदस्यों का वाद माननीय श्रम न्यायालय में गतिमान है। प्रबंधन की यह मनमानी और संगठन के सदस्य पंकज कुमार, हरीश चन्द्र व संतोष को सेवा से निलंबित कर दिया गया है। 19 माह से लंबित मांग पत्र पर वार्ता न करना,और  कर्मचारियों को स्थाई नियोजन पत्र न देना।आदि हक के लिए । श्रमिक हितों को देखते हुए संगठन ने 26 अक्टूबर से श्रम भवन, रुद्रपुर में धरना कर बैठ गए।

Leave a Reply