उत्तराखण्ड ज़रा हटके नैनीताल

डीएसबी के वाणिज्य विभाग में ‘पेटेंट का करियर पर प्रभाव’ विषय पर हुई कार्यशाला…….

ख़बर शेयर करें -

 

नैनीताल-वाणिज्य विभाग डीएसबी परिसर कुमाऊं विश्वविद्यालय द्वारा इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट के अंतर्गत ‘पेटेंट का करियर पर प्रभाव’ विषय पर ऑनलाइन कार्यशाला का आयोजन किया गया। वाणिज्य विभाग के विभागाध्यक्ष एवं संकायाध्यक्ष प्रो. अतुल जोशी के निर्देशन में आयोजित कार्यशाला में विभिन्न स्थानों से प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।

 

कार्यशाला के मुख्य वक्ता अर्नब भट्टाचार्य, एग्जामिनर ऑफ पेटेंट एंड डिजाइन, पेटेंट ऑफिस कोलकाता, डीपीआईआईटी, उद्योग एवं वाणिज्य मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा विस्तार से व्याखायन दिया गया। उन्होंने बताया कि बौद्धिक संपदा का अधिकार एक महत्वपूर्ण अधिकार है। उन्होंने पेटेंट, डिजाइन तथा ट्रेड मार्क को विस्तार से समझाया। बताया कि इस श्रेणी में कैसे रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है। कहा पेटेंट रजिस्ट्रेशन के ऑनलाइन माध्यम से विभिन्न फॉर्म भरे जाते हैं। जिसमे फॉर्म 1, 2, 3, 5 तथा 8 मुख्य हैं।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं मीडिया प्रभारी नीरज तिवारी के आवास में कांग्रेस की विशाल जनसभा......

 

पेटेंट के क्षेत्र में विभिन्न प्रत्यक्ष तथा अप्रत्यक्ष रूप से करियर बनाया जा सकता है। इसमें पेटेंट एजेंट, पेटेंट एग्जामिनर समेत पेटेंट के धारकों ने पेटेंट के विषय में विस्तार से बताया। उन्होंने बताया कि बौद्धिक संपदा कैसे किसी के करियर को आगे ले जाने में सहायक होती है। तथा इस क्षेत्र में करियर के प्रभाव पर प्रकाश डाला। उन्होंने उच्च शिक्षा में पेटेंट के महत्व को समझाया। कार्यशाला में डॉ. आरती पंत, डॉ. विजय कुमार, डॉ. ममता जोशी, डॉ. मनोज पांडे, डॉ. जीवन उपाध्याय, अंकिता आर्या ,पूजा जोशी , सुबीया नाज समेत कई शोधार्थी एवं विद्यार्थियों ने प्रतिभाग किया।

Leave a Reply