क्राइम देश-विदेश

जब कानून के रक्षक ही बन जाएं भक्षक- थाने में महिला के जिस्म का सौदा तीन लोगो ने किया सामूहिक दुष्कर्म…..

ख़बर शेयर करें -

कानून के रक्षक ही जब भक्षक बन जाएं तो आमजन किससे न्याय की उम्मीद करेंगे। हरियाणा के पलवल जिले के हसनपुर थाना में हुए घटनाक्रम ने कानून व्यवस्था को आइना दिखाने का काम किया है। हसनपुर थाना में अपने पति के खिलाफ उत्पीड़न की शिकायत देने पहुंची महिला की सुनवाई नहीं की गई। आरोप है कि थाने में मिले एएसआई ने एक व्यक्ति के साथ महिला को भेज दिया, जिसने उसे खेतों पर बने कमरे में ले जाकर अपने दो दोस्तों के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।

 

आरोपी महिला को पलवल ले आए और तीनों ने दो दिन उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। उसके बाद चौथे साथी के साथ मिलकर महिला को बेच दिया गया। खरीदार ने भी महिला से दुष्कर्म किया और बाद में उसे अपने साले को सौंप दिया। साले ने महिला को बंधक बनाकर रखा और करीब एक माह तक उसका शारीरिक शोषण किया। थानेदार ने आरोपियों से एक लाख रुपये लेकर उनके खिलाफ कार्रवाई न होने देने का आश्वासन दिया।

यह भी पढ़ें 👉  मलिक को पनाह देने वालों पर पुलिस की नजर, दो-दो दिन मास्टरमाइंड को अपने घर में रखा; होगी कार्रवाई…..

 

महिला थाना पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर आरोपी एएसआई सहित सात नामजद के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म, मानव तस्करी सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। जांच अधिकारी एएसआई पुष्पा के अनुसार, हसनपुर थाना अंतर्गत एक गांव निवासी महिला ने शिकायत दर्ज कराई है कि बीती 23 जुलाई को वह हसनपुर पुलिस थाने में अपने पति के खिलाफ उत्पीड़न की शिकायत देने के लिए गई थी। वहां उसे थानेदार एएसआई शिवचरण मिला। शिवचरण ने उसकी शिकायत लेने से मना कर दिया और उसे जबरन गांव निवासी बल्ली के साथ भेज दिया।

यह भी पढ़ें 👉  रडार पर आया अब्दुल मलिक का निर्माणाधीन रिजॉर्ट...

 

बल्ली उसे खेतों में बने कमरे पर ले गया, जहां निरंजन व भीम पहले से मौजूद थे। तीनों ने बारी-बारी उसके साथ दुष्कर्म किया और उसकी अश्लील वीडियो बना लिया। आरोपियों ने किसी को बताने पर वीडियो वायरल करने की धमकी दी। अगले दिन आरोपी उसे पलवल लाइन पार निवासी शांति के पास ले आए, जहां उसे एक रात रखा गया। आरोपियों ने उसे नशीली दवाइयां दी और नशे की हालत में उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।

 

उसके बाद आरोपियों ने शांति, बल्ली, निरंजन व भीम ने मिलीभगत कर उसे गांव घोड़ी निवासी बिजेंद्र को बेच दिया। बिजेंद्र जबरन उसे अपने साथ ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। उसके बाद बिजेंद्र ने अपने साले चंदावली निवासी गजेंद्र के पास भेज दिया। गजेंद्र ने दुष्कर्म किया और उसे बंधक बनाकर रखा। इसी बीच थानेदार शिवचरण ने खाली कागजातों पर उसके हस्ताक्षर ले लिए और कहा कि यदि किसी के खिलाफ कार्रवाई की तो इन कागजातों को शादी के दस्तावेजों के रूप में पेश कर देंगे।

यह भी पढ़ें 👉  साफिया पर कसेगा पुलिस का शिकंजा, नोटिस जारी करने की तैयारी…..

 

शिवचरण ने इसके लिए बिजेंद्र से एक लाख रुपये लिए और उसके खिलाफ कोई कानूनी कार्रवाई न होने देने का आश्वासन दिया। बीती 30 अगस्त को उसने पति व अपनी मां को फोन कर आपबीती बताई। पुलिस उसे लेकर थाने पहुंची। पुलिस ने शिकायत के आधार पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।

 

 

Leave a Reply