उत्तराखण्ड ज़रा हटके

लैंसडौन विधान सभा के रिखणीखाल  विकास खंड रिखणीखाल के ग्रामीणों कोलोक सभा चुनाव 2024 के वहिष्कार की चेतावनी…….

ख़बर शेयर करें -

रिखणीखाल- लैंसडौन विधान सभा के रिखणीखाल  विकास खंड रिखणीखाल के ग्राम छड़ियाणी धूरा के ग्रामीणों का लोक सभा चुनाव 2024 के वहिष्कार की चेतावनी। विदित हो कि इस गांव के लिए सन 2001 में पाणीसैण से डबराड तक 15 किलोमीटर  सड़क स्वीकृत थी,जो कि अभी तक लम्बित है।आधा अधूरा बनी सड़क पर काम बन्द हो गया है।जिससे ये ग्रामीण सड़क मार्ग से वंचित रह गये।इनको हर जगह से खड़ी चढ़ाई चढ़नी पड़ती है।

आज की इस वीडियो के माध्यम से सरकार का ध्यान आकर्षित करते हुए  तथा बारिश में भीगते हुए एक जगह एकत्रित हुए, उनका कहना है कि हमारा गाँव एक स्वर में लोक सभा चुनाव 2024 का पूर्ण रूप से वहिष्कार करेगा।उनका साफ शब्दों में कहना है कि हम मतदान के लिए घर से बाहर  नहीं निकलेंगे तथा औरों को भी कहेंगें। जब तक कि हमारे गाँव में मौलिक सुविधायें मुहैया नहीं की जाती।इस गाँव के लिए  न सड़क,  न पेयजल, न पैदल मार्ग।

यह भी पढ़ें 👉  ADG प्रशासन ने बनभूलपुरा क्षेत्र का लिया जायजा, नई चौकी का किया स्थलीय निरीक्षण, दिए निर्देश...

 

स्कूल  भी 7 किलोमीटर दूर,ऑगनबाडी केन्द्र भी 5-6 किलोमीटर दूर है।जंगल का रास्ता  है,जंगली जानवरों का आतंक  वैसे भी लगातार  बना हुआ  है।वे बार-बार कहते हैं कि चुनाव  प्रचार   वोट  मांगने हमारे गांव में मत आना,अपमानित होना पड़ेगा। हमारी बात  कोई नहीं सुनता।देहरादून और दिल्ली में लगातार  जी 20 सम्मेलन  चल रहे हैं, वाह-वाही हो रही है लेकिन गांवों की ओर कोई ध्यान  नहीं  दिया जा रहा है।भ्रष्टाचार का बोलबाला  है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल पुलिस ने जारी किए बनभूलपुरा दंगे में वांछित उपद्रवियों के पोस्टर.....

 

ये किसी से छिपा नहीं है।गांवों की हालत नहीं देखते कि गाँव के लोग कैसे जीवनयापन करते हैं। ग्रामीण  परेशान  हैं। गाँव  से पलायन होता जा रहा है,जो भी रिटायर्ड हो रहे हैं, सब शहरों की तरफ जा रहे हैं। गाँव का विकास शून्य से नीचे चले गया है।अन्त में उनकी गुहार है कि समय रहते,हमारे गाँव की समस्याओ पर ध्यान केन्द्रित करें वरन वोट  मांगने की उम्मीद मत रखना।

Leave a Reply