उत्तराखण्ड कोटद्वार ज़रा हटके

राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कोटद्वार में राष्ट्रीय मूल्यांकन परिषद नेक का दो दिवसीय मूल्यांकन संपादित…. ।

ख़बर शेयर करें -

कोटद्वार-  प्रथम दिवस का प्रारम्भ प्रातः 9:00 बजे महाविद्यालय की प्राचार्य, समस्त प्राध्यापक, कर्मचारी तथा छात्र-छात्राओं के द्वारा नेक प्रत्यायन टीम का स्वागत किया गया। नेक प्रत्यायन टीम में चेयरपर्सन प्रो0 एंड डीन डॉ वसंत हेलवी रेड्डी, मेंबर  कोर्डिनेटर प्रो शिवानी वी, तथा सदस्य प्रो सुकांता कुमार बराल सम्मीलित रहे। प्रथम दिवस में टीम के आगमन पर सम्पूर्ण महाविद्यालय परिवार द्वारा सभी सदस्यों का स्वागत किया गया

निदेशक उच्च शिक्षा प्रतिनिधि के रूप में पीजी कॉलेज पैठणी के प्राचार्य प्रोफेसर डी एस नेगी  मौजूद थे तत्पश्चात शौर्य दीवार और डॉ पितांबर दत्त बडथ्वाल की मूर्ति पर माल्यार्पण और एनसीसी यूनिट के द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया महाविद्यालय की प्राचार्य प्रोफेसर जानकी पवार एवम महाविद्यालय के आई. क्यू. ए. सी. कोर्डिनेटर डॉ प्रवीन जोशी  द्वारा प्रस्तुतीकरण दिया गया। जिसमें महाविद्यालय परिचय के साथ-साथ विगत पांच वर्षो में पाठ्यक्रम संचालन तथा सभी सात मानदंडों पर विस्तार से चर्चा की गई।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी धूमधाम से किया गया ज्ञानदीप पब्लिक हाई स्कूल में चल रहे सात दिवसीय योग शिविर का समापन……

 

प्रस्तुतीकरण के उपरांत टीम द्वारा समस्त विभागाध्यक्षों के साथ विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की गई। इसी क्रम में नैक पियर टीम के सदस्यों द्वारा सभी विभागों द्वारा किए जा रहे कार्यों का निरीक्षण किया गया तथा सभी आधारभूत सुविधाओ यथा पेयजल प्रयोगशालाओं, कंप्यूटर, विभागीय पुस्तकालय आदि का भौतिक निरीक्षण किया। एनसीसी, एनएसएस, रॉबर्स रेंजर ,करियर – काउंशिलिग सेल, छात्र सहायता केंद्र , गर्ल्स कॉमन रूम, शारीरिक शिक्षा विभाग, खेल मैदान, कैंटीन आदि  का भ्रमण  किया। लंच के उपरांत नेक प्रत्यायन टीम द्वारा समस्त प्राध्यापक, छात्र-छात्राओं, भूतपूर्व छात्रों, अभिभावको,

यह भी पढ़ें 👉  वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पौड़ी  लोकेश्वर सिंह के निर्देश पर चले वृहद सत्यापन अभियान में किया  लाखों का चालान......

 

प्रशासनिक अधिकारों तथा कर्मचारियो के साथ बैठक की गई। इसी क्रम में नैक प्रत्यायन टीम ने आइ क्यू ए सी ऑफिस में आइ क्यू ए सी कोऑर्डिनेटर तथा सदस्यों के साथ एस एस आर के दस्तावेजों का मूल्यांकन एवम प्रमाणों की जांच की तथा कोऑर्डिनेटर के साथ विभिन्न विषयों पर विस्तार से चर्चा की। प्रथम दिवस की अनुसूची के अंत में छात्र-छात्राओं द्वारा नैक प्रत्यायन टीम के समक्ष उत्तराखंड की संस्कृति को सांस्कृतिक कार्यक्रमों  के माध्यम से प्रस्तुत किया गया दूसरे दिन नैक टीम द्वारा विभागीय अभिलेख वित्तीय तथा विभिन्न समितियां द्वारा किए गए कार्यों की जांच की जिसके आधार पर अपनी रिपोर्ट तैयार की जिसे टीम के चेयरपर्सन द्वारा महाविद्यालय की प्राचार्य को एग्जिट मीटिंग में सील बंद लिफाफे में सौंपा गया ।

यह भी पढ़ें 👉  पद्म श्री डा. यशवंत सिंह कठोच को किया सम्मानित......

 

इस प्रकार इस प्रकार राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद नैक का दो दिवसीय मूल्यांकन संपादित किया गया।  इस अवसर पर समस्त महाविद्यालय परिवार उपस्थित रहा। नैक कार्य संपादित होने पर महाविद्यालय प्राचार्य एवं आई क्यू ए सी कॉर्डिनेटर द्वारा नैक पियर के समस्त सदस्यों का  धन्यवाद ज्ञापित किया साथ ही निदेशक प्रतिनिधि, महाविद्यालय के समस्त छात्र-छात्राओं, प्राध्यापकों तथा गैर शिक्षक कर्मचारीयों का भी आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply