उत्तरप्रदेश क्राइम बरेली

रात में किया कॉल, ‘पापा मुझे बचा लो, सुबह पेड़ पर लटका मिला युवक का निर्वस्त्र शव…..

ख़बर शेयर करें -

बरेली- हाफिजगंज क्षेत्र के परेवा कुर्मियान गांव निवासी युवक दिल्ली में रहकर पीसीएस की तैयारी कर रहा था। बुधवार रात में उसने अपने पिता को कॉल कर बताया कि उसे कुछ लोग मार रहे हैं। बचाने की गुहार लगाई। सुबह परिजन दिल्ली जाने की तैयारी कर रहे थे, उसी दौरान उन्हें सूचना मिली कि युवक का शव गांव काशी धरमपुर के खेत में पेड़ पर लटका हुआ है। 

बरेली के हाफिजगंज थाना क्षेत्र में बृहस्पतिवार सुबह एक युवक का निर्वस्त्र शव पेड़ पर फंदे से लटका मिला। इससे इलाके में सनसनी फैल गई। युवक के शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं था। उसके गले में प्लास्टिक की रस्सी बंधी हुई थी। दोनों पैर जमीन से लगे हुए थे। मौके पर पहुंची पुलिस ने गहनता से छानबीन की। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। परिजनों ने हत्या के बाद शव लटकाए जाने की आशंका जताई है।

जानकारी के मुताबिक हाफिजगंज के परेवा कुर्मियान गांव निवासी चंद्रपाल गंगवार का पुत्र लक्ष्मण प्रसाद दिल्ली में रहकर पीसीएस की तैयारी कर रहा था। पिता चंद्रपाल ने बताया कि बुधवार शाम को उनके नंबर पर लक्ष्मण ने कॉल किया। उसने बताया कि उसके पास रुपये नहीं हैं। वह घर आना चाहता है। इस पर उसके खाते में 1500 रुपये भिजवाए। रात करीब 10 बजे फिर उसने कॉल किया। इस बार वह बेहद घबराया हुआ था।

चंद्रपाल गंगवार के मुताबिक उनके बेटे लक्ष्मण ने कहा था कि उसे कुछ लोगों ने पकड़ लिया है। उसके हाथ-पैर बांधकर फंदे से लटका रहे हैं। इसके बाद कॉल कट गई। बेटे की बात सुनकर पिता समेत परिवार के सभी लोग परेशान हो गए। चंद्रपाल ने ग्राम प्रधान को पूरा मामला बताया । ये लोग सुबह दिल्ली जाने वाले थे। इसी दौरान किसी ने सूचना दी कि लक्ष्मण का शव गांव काशी धरमपुर के खेत में पेड़ पर लटका है। इसकी सूचना मिलते ही परिजन मौके पर पहुंच गए। शव को देखकर चीख-पुकार मच गई। सूचना मिलते ही थाना पुलिस मौके पर पहुंची।

घटनास्थल पर छानबीन की। सरसों के खेत में युवक का बैग और कपड़े मिले। एक कॉपी में सुसाइड नोट भी लिखा हुआ है, जिससे युवक की मौत की गुत्थी उलझ गई है। फॉरेंसिक टीम ने मौके पर पहुंचकर साक्ष्य जुटाए हैं। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। 

यह भी पढ़ें 👉  लम्बे समय से फरार चल रहे 02 वारण्टियों को पौड़ी पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा सलाखों के पीछे…..

Leave a Reply