उत्तराखण्ड ज़रा हटके रुद्रपुर

नगर निगम में धूमधाम से मनाया गया रक्षा बंधन पर्व, मेयर ने सभी बहनों को उपहार देकर किया सम्मानित…..

ख़बर शेयर करें -

रूद्रपुर- नगर निगम में पहली बार रक्षाबंधन के उपलक्ष्य में भव्य कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें आंगनबाड़ी कार्यकत्राी, आशा वर्कर, स्वयं सहायता समूह नारी शक्ति और भाजपा महिला कार्यकर्ताओं ने सैकड़ों की संख्या में पहुंचकर मेयर रामपाल सिंह को राखी बांधी और उनके स्वस्थ एवं सुखमय जीवन की कामना की। इस अवसर पर मेयर रामपाल ने सभी बहनों का आभार व्यक्त किया और सभी को कॉफी मंग, मिष्ठान और डेंगू से बचाव के लिए एक एक मच्छरदानी उपहार स्वरूप भेंट की।

वही दीपा माटेला स्वयं सहायता समूह से पहुंची महिलाओं ने उत्तराखंड की पहचान ऐपण कलाकृति से बनी राखियां बांध कर खुशी व्यक्त की। इस अवसर पर मेयर रामपाल सिंह ने कहा कि रक्षाबंधन स्नेह का वह अमूल्य बंधन है जिसका बदला धन तो क्या, सर्वस्व देकर भी नहीं चुकाया जा सकता। वास्तव में रक्षाबंधन विश्वास का बंधन है। यह पर्व मात्र रक्षासूत्र के रूप में राखी बांधकर रक्षा का वचन ही नहीं देता, वरन् प्रेम, समर्पण, निष्ठा व संकल्प के जरिए हृदयों को बांधने का भी वचन देता है। रक्षाबंधन पर्व का भारतीय संस्कृति में विशेष महत्व है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल जेल के बैरक नंबर एक में रखा गया अब्दुल मलिक, सीसीटीवी से रखी जा रही नजर……

यह पर्व हमारे सामाजिक परिवेश एवं मानवीय मूल्यों का अभिन्न अंग है। आज आवश्यकता है आडंबर के बजाय इस त्यौहार के पीछे छुपे हुए संस्कारों और नैतिक मूल्यों का सम्मान किया जाना चाहिए तभी व्यक्ति, परिवार, समाज और राष्ट्र का कल्याण संभव होगा। आज राखी बांधना सिर्फ भाई-बहन के बीच का कार्यकलाप नहीं रह गया है। राखी देश की रक्षा, पर्यावरण की रक्षा, हितों की रक्षा आदि के लिए भी बांधी जाने लगी है। यह त्योहार हमारी संस्कृति की पहचान है और हर भारतवासी को इस त्योहार पर गर्व है। लेकिन आज ये एक बड़ा दुर्भाग्य भी है कि देश में जहां बहनों के लिए इस विशेष पर्व को मनाया जाता है,

यह भी पढ़ें 👉  विधायक शिव अरोरा ने गदरपुर- मटकोटा से मुकरन्दपुर को जोड़ने वाले 1. 7 किलोमीटर हॉटमिक्स मार्ग का फीता काटकर कर किया शिलान्यास……

वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो बेटियों को गर्भ में ही मार देते हैं। आज कई भाइयों की कलाई पर राखी सिर्फ इसलिए नहीं बंध पाती क्योंकि उनकी बहनों को उनके माता-पिता ने इस दुनिया में आने ही नहीं दिया। यह बहुत ही शर्मनाक है जिस देश में कन्या पूजन का विधान शास्त्रों में है वहीं कन्या भ्रूण हत्या के मामले सामने आते हैं। यह त्योहार हमें यह भी याद दिलाता है कि बहनें हमारे जीवन में कितना महत्व रखती हैं। मेयर ने कहा कि आज कोई भी माता पिता अपनी बेटियों को बोझ न समझें बल्कि बेटियों को शिक्षित करें और कन्या भू्रण हत्या को रोकें।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी_बिरयानी की दुकानों पर हलाल प्रमाणिकता का बोर्ड लगवाने की मांग…….

 

इस अवसर पर वरिष्ठ भाजपा नेत्री रश्मि रस्तोगी, श्वेता मिश्रा, रजनी रावत, शालू पाल, कमला देवी,सीमा गुप्ता, स्वाति शर्मा गीता भारद्वाज अंजू शर्मा शम्मी गुप्ता महेंद्र शर्मा ओमवती चौहान कमलेश कुशवाह कविता सागर प्रनौती विश्वास, मंजू शर्मा गोरा देवी कमलेश शीतल शकुंतला सुलाता सीखा दास सुभद्रा मंडल पुष्पा गीता देवी सुनीता सागर लक्ष्मी मलिक सुनीता बिष्ट धन वर्षा सुचित्रा विश्वास आरती विश्वास पार्षद विधान राय निमित्त शर्मा प्रमोद शर्मा भवन गुप्ता सुशील चौहान आयुष तनेजा विनय विश्वास, जितेंद्र यादव सहित सैकड़ो बहने मौजूद रही।।

Leave a Reply