उत्तराखण्ड ज़रा हटके लालकुआं

कोटद्वार के विभिन्न स्थानों पर डेंगू रोग के मरीजों की संख्या में हो रही है अत्यधिक वृद्धि….

ख़बर शेयर करें -

कोटद्वार- जैसा कि विदित है कि वर्तमान समय में बरसात के बाद कोटद्वार के विभिन्न स्थानों पर डेंगू रोग के मरीजों की संख्या में अत्यधिक वृद्धि हो रही है। नगर निगम कोटद्वार के द्वारा नगर क्षेत्र में कई वाड़ों में निरन्तर फॉगिंग तथा एन्टी लार्वा का छिड़काव भी किया जा रहा है परन्तु यह पर्याप्त नही हो रही है। जिस क्रम में नगर आयुक्त नगर निगम कोटद्वार द्वारा समस्त 40 वाड़ों में एन्टी लाव का छिड़काव करने हेतु अतिरिक्त 40 स्प्रे मशीनों तथा 04 फॉगिंग मशीनों का क्रय किया गया है।

 

यह भी पढ़ें 👉  विधायक शिव अरोरा की कार्यशैली से प्रभावित होकर राजेश बजाज व कई प्रधान,बीडीसी सहित सैकड़ों लोगों ने ली बीजेपी की सदस्यता......

तथा छिड़काव एवं फॉगिंग करवाने हेतु समस्त 40 वार्डों में सहायक नगर आयुक्त तथा सफाई निरीक्षकों की देखरेख में 40 नई टीमों का गठन किया गया है जिनको प्रतिदिन मा० पार्षदगणों के साथ मिलकर प्रभावित क्षेत्रों में जाकर डेंगू के लार्वा को समाप्त करने हेतु जनजागरूकता का अभियान चलाया जाने हेतु आदेशित किया गया है। स्वयं नगर आयुक्त, नगर निगम कोटद्वार की अगवाई में भी एक टीम गठित कर अति प्रभावित स्थानों पर डेंगू के विरुद्ध अभियान चलाया जा रहा है।

 

नगर आयुक्त, नगर निगम कोटद्वार द्वारा कोटद्वार की आम जनमानस से डेंगू की रोकथाम हेतु निम्न संदेश दिया गया है। जानकारी ही बचाव है-1. डेंगू मच्छर रूके हुये साफ पानी में पनपता है तथा दिन के समय काटता है डेंगू की रोकथाम के लिए अपने घर व घर के आस-पास रूके हुए पानी में मच्छरों को न पनपने दें। 2. कूलर एंव फ्रिज के पीछे की ट्रे को प्रति सप्ताह अच्छी तरह से साफ करने के बाद ही पुनः प्रयोग करें।

  1. छत की टंकी हमेशा बन्द रखें तथा गमलों में अतिरिक्त पानी जमा न होने दें। 4. अपने घर के परिसर एवं आस-पास की नालियों को हमेशा साफ रखें तथा उनमें पानी न रूकने दें।
यह भी पढ़ें 👉  भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान एवं एसेंचर ने महिलाओं को दी नई पहचान……

डेंगू के लक्षण-1. अचानक तेज सिर दर्द व बुखार आना।

  1. आँखों के पीछे दर्द होना जो कि आँखों को घुमाने से बढ़ता है। 3. मॉस-पेशियों तथा जोड़ों में दर्द होना।
  2. जी मिचलाना एवं उल्टी होना। 5. गम्भीर मामलों में नाक मुँह व मसूड़ों से खून आना अथवा त्वचा पर लाल चकते उभरना ।नोट- यदि किसी भी व्यक्ति को उपरोक्त लक्षण पाये जाते है तो तत्काल निकटतम स्वास्थय केन्द्र मे जाकर स्वास्थय कर्मी से जॉच करवायें।

Leave a Reply