उत्तराखण्ड ज़रा हटके पोड़ी

जिलाधिकारी ने शिकायतकर्ताओं से फोन के माध्यम से संपर्क कर उनकी शिकायतों की ली जानकारी…..

ख़बर शेयर करें -

पौड़ी- मा0 मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 1905 की जिलाधिकारी डॉ0 आशीष चौहान ने सोमवार को वर्चुअल माध्यम से समीक्षा बैठक ली। उन्होंने पुरानी शिकायतों का निस्तारण नहीं करने वाले विभागीय अधिकारियों के वेतन रोकने के निर्देश मुख्य विकास अधिकारी को दिये। साथ ही शिकायतों के निस्तारण में बरती जा रही ढिलाई पर संबंधित अधिकारियों के स्पष्टीकरण तलब करने के निर्देश भी दिये हैं।

 

जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री हेल्पलाइन की विभागवार समीक्षा करते हुए समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया कि छोटी शिकायतों का अपने ही स्तर से समाधान करें, जिससे ऐसी शिकायतें अनावश्यक रूप से संबंधित पोर्टल पर दर्ज न हो। साथ ही उन्होंने कहा जिन लोगों की शिकायतों का निस्तारण किया जाता है उन्हें संपर्क करते हुए उन्हें उसकी जानकारी भी दें।

यह भी पढ़ें 👉  मतदाता सूचियों) के विस्तृत पुनरीक्षण हेतु निर्धारित की गई समय सारणी…….

 

उन्होंने सबसे ज्यादा शिकायत वाले विभाग शिक्षा, वन विभाग व पंचायतीराज विभाग के अधिकारियों को सक्त चेतावनी दी है जो शिकायतें दर्ज हैं उनका निस्तारण समय पर पूर्ण करें। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये हैं कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 1905 में आ रही शिकायतों का मौके पे जाकर निरीक्षण कर उसका निस्तारण करें। इस दौरान उन्होंने शिकायतकर्ताओं से फोन के माध्यम से संपर्क किया और उनकी शिकायतों की जानकारी ली।

यह भी पढ़ें 👉  यानापाचा को जीतना: एक पर्वतारोही की कहानी......

 

उन्होंने संबंधित अधिकारियों को 1905 में जो शिकायतें दर्ज हुई हैं, उनका निस्तारण करने हेतु शिकायतकर्ताओं से संपर्क कर समस्या का समाधान ससमय पर करें। उन्होंने जिला विकास अधिकारी को समस्त अधिकारियों को मुख्यमंत्री हेल्पलाइन का ऑनलाइन प्रशिक्षण देने को कहा।बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अपूर्वा पाण्डेय, जिला विकास अधिकारी मनविन्दर कौर, मुख्य कोषाधिकारी गिरीष चंद, मुख्य शिक्षाधिकारी दिनेश गौड़, जिला पर्यटन अधिकारी प्रकाश खत्री, एसडीओ वन विभाग लक्की शाह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply