उत्तराखण्ड ज़रा हटके रुद्रपुर

निजी स्वार्थ के लिए सरकारी संसाधनों का दुरूपयोग कर रहे मेयर…..

ख़बर शेयर करें -

रूद्रपुर- महानगर कांग्रेस अध्यक्ष सीपी शर्मा ने बीते दिनों मेयर रामपाल सिंह द्वारा नगर निगम में रक्षाबंधन पर आयोजित कार्यक्रम में सरकारी संशाधनों के दुरूपयोग और नगर निगम के सफाई कर्मियों का हक मारने पर मेयर के खिलाफ हमला बोला है। प्रेस को जारी एक बयान में महानगर अध्यक्ष ने कहा कि मेयर का कार्यकाल खत्म होने को है लेकिन वह अभी तक सस्ती लोकप्रियता हासिल करने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि रक्षाबंधन का कार्यक्रम मेयर ने नगर निगम में आयोजित करके एक बार फिर सरकारी संशाधनों का दुरूपयोग किया है।

यह भी पढ़ें 👉  16 मई को ढूंग से हुआ था बाबा विश्वनाथ मां जगदीशिला डोली यात्रा का शुभारंभ......

 

मेयर को रक्षाबंधन के नाम पर महिलाओं की वाहवाही लूटनी थी तो उन्हें यह कार्यक्रम अपने घर पर आयोजित करना चाहिए था या किसी बस्ती में जाकर  अपने निजी संशाधनों से बहनों को खुश करते। नगर निगम में इस तरह का कार्यक्रम सरकारी संशाधनों का खुला दुरूपयोग है। श्री शर्मा ने कहा शासन से जो मच्छरदानियां सफाई कर्मियों और नगर निगम के कर्मचारियों के लिए मिली थी उन्हें मेयर ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों और स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को बांटकर निगम कर्मियों का हक मारने का काम किया है। मेयर सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए बाज नहीं आ रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  पुलिस ने 02 वारण्टियों को किया गिरफ्तार.....

 

उनके कार्यकाल को पांच साल बीतने को हैं लेकिन उपलब्धियों के नाम पर उनके पास कुछ नहीं है। झूठ का सहारा लेकर उन्होंने पांच साल बिता दिये। शहर में जलभराव की स्थिति जस की तस है। सफाई व्यवस्था चौपट है। घर घर कूड़ा कलेक्शन की व्यवस्था मजाक बनकर रह गयी है। करोड़ो खर्च करने के बाद भी कूड़े का पहाड़ आज भी मुंह चिढ़ा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  जिला बार चुनाव में नामांकन प्रक्रिया खत्म अध्यक्ष पद पर दो दावेदारो के बीच होगा मुकाबला….

 

मेयर दो माह में कूड़े का ढेर हटाने की बात करते थे लेकिन पांच साल में भी वह कूड़े को नहीं हटा पाये। महानगर अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि मेयर ने जनता की गाढ़ी कमाई का पैसा अपने चहेते लोगों और पूंजीपतियों की कालोनियों में लगाकर जनता के साथ सरासर नाइंसाफी की है। जनता आगामी निकाय चुनाव में भाजपा का सबक सिखाकर इसका बदला लेगी।

Leave a Reply