उत्तरकाशी ज़रा हटके

पर्वतारोहण है जीवट,जोखिम और रोमांच का पर्याय-रेखा आर्या…..

ख़बर शेयर करें -

उत्तरकाशी- प्रदेश की कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने जनपद उत्तरकाशी स्थित नेहरू पर्वतारोहण संस्थान के “एडवांस पर्वतारोहण कोर्स” के दीक्षांत समारोह कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सम्मलित हुई।कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्ज्वलन कर किया गया।इस दीक्षांत समारोह में कुल 279 बेसिक कोर्स और 175 एडवांस पर्वतारोहण कोर्स पूरा करने वाले पर्वतारोहियों को प्रशस्ति पत्र दिए और सभी को सम्मानित किया।कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि आपदा के दौरान रेस्क्यू कार्य हो या फिर केदारनाथ में पुनर्निर्माण कार्य,

 

इन सभी क्षेत्रों में बेहतरीन कार्य दिखाकर निम ने अपना लोहा मनवाया है।आज यह संस्थान एडवेंचर स्पोर्ट का बड़ा केंद्र बन गया है, जिससे भारत की स्पोर्ट क्लाइंबिंग टीम तैयार हो रही है।इसके साथ ही निम ने रोजगार से जुड़े कोर्स भी शुरू किए हैं, जिससे युवा निम से प्रशिक्षण लेकर स्वरोजगार से जुड़ रहा है जो कि आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को साकार कर रहा है।पर्वतारोहण में प्रशिक्षण देने वाला देश का प्रतिष्ठित संस्थान नेहरू इंस्टीट्यूट ऑफ माउंटेनियरिंग (NIM) इसका गवाह बन रहा है,

यह भी पढ़ें 👉  उधम सिंह नगर पुलिस द्वारा बरामद किए गये करीब 500 मोबाइल फोन......

 

जहां तय सीमा से अधिक उम्र के लोग भी पर्वतारोहण जैसे जोखिम भरे शौक का प्रशिक्षण लेने पहुंच रहे हैं।उन्होंने कहा कि पर्वतारोहियों को समुचित सम्मान और प्रतिनिधित्व दिए जाने हेतु वह अपने स्तर से पूरा प्रयास करेंगी।कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि परंपरागत पेशे से हटकर इन बच्चों ने पर्वतारोहण साहसिक क्षेत्र को चुना जो उत्साहवर्द्धक एवं सराहनीय है। उन्होंने निम की उपलब्धियों को महत्वपूर्ण और अविस्मरणीय बताते हुए कहा कि देश की प्रथम महिला एवरेस्ट विजेता बछेंद्री पाल ने इसी संस्थान से प्रशिक्षण लिया था जो आज दुनिया की तमाम ऊंची चोटियों को फतेह कर देश का मान बढ़ा रही है। उन्होने संस्थान को आगे बढ़ाने में संस्थान के प्रधानाचार्य कर्नल अंशुमान भदौरिया के योगदान की सराहना की। उन्होंने कहा कि निम से प्रशिक्षण लेकर निकलने के बाद प्रशिक्षुओं के भीतर तत्काल निर्णय लेने एवं  हर चुनौती से लड़ने की क्षमता मजबूत होती है।

यह भी पढ़ें 👉  कण्डोलिया मैदान पौड़ी में किया जा रहा है  फुटबॉल प्रतियोगिता का आयोजन…….

 

यही पर्वतारोही ऊंचे पर्वतों को फतह कर देश के तिरंगे झंडे को लहराएंगे यह सोचकर हमें गर्व महसूस होता है। आज के समय में दुनिया में बहुत से खेल है परन्तु पर्वतारोहण का साहसिक खेल हमें हर पल जिन्दगी और मौत से साक्षात्कार कर विकट चुनौतियों से जूझने कर जीतने का जज्बा देता है। समारोह में एडवांस कोर्स में अंकित सिंह की टीम को एवं बेसिक कोर्स में मनीष कटरिया की टीम को बेस्ट टीम का पुरस्कार दिया गया।इस दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष उत्तरकाशी श्री दीपक बिजल्वाण जी, प्रधानाचार्य कर्नल श्री अंशुमन भदौरिया जी,उप प्रधानाचार्य मेजर श्री देवल वाजपेयी जी सहित प्रशिक्षकगण व प्रशिक्षु अभ्यर्थी उपस्थित रहे!

यह भी पढ़ें 👉  सिलक्यारा टनल से देशभर में सेलेब्रिटी बने गब्बर सिंह का कोटद्वार पहुंचने पर ढोल नगाड़ों व जयकारों के साथ भव्य स्वागत……

 

राज्य की खेल एवं युवा कल्याण, महिला एवं बाल विकास, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामलों की मंत्री रेखा रेखा आर्या नेहरू पर्वतारोहण संस्थान उत्तरकाशी के बेसिक एवं एडवांस माउंटेनियरिंग प्रशिक्षण कोर्स के दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि बोल रही थी। इस दीक्षांत समारोह में  एडवांस माउंटेनियरिंग कोर्स के 175 एवं बेसिक माउंटेनियरिंग कोर्स के 279 प्रशिक्षु सम्मिलित हुए।

 

श्रीमती आर्या ने प्रशिक्षु पर्वतारोहियों को संस्थान का बैज प्रदान कर शुभकामनाएं देते हुए  इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष दीपक बिजल्वाण, निम के प्रधानाचार्य कर्नल अंशुमान भदौरिया, उप प्रधानाचार्य मेजर देवल बाजपेई, रजिस्ट्रार प्रवीण कुमार, क्यूरेटर डा. विशाल रंजन, मुख्य प्रशिक्षक दशरथ सिंह राय भी उपस्थित रहे। इस पूर्व कैबिनेट मंत्री रेखा आर्य ने बाबा काशी विश्वनाथ मंदिर एवं माता कुटेटी मन्दिर में पूजा अर्चना की तथा निम के हिमालय म्यूजियम का अवलोकन भी किया।

Leave a Reply