उत्तरप्रदेश ज़रा हटके बहेड़ी

UP में यहाँ जन्मा एलियन की शक्ल वाला बच्चा, हार्लेक्विन इक्थियोसिस बीमारी से जन्मे नवजात की मौत………

ख़बर शेयर करें -

बहेड़ी-बहेड़ी में बीते बुधवार को बहेड़ी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में दुर्लभ अनुवांशिक विकार हार्लेक्विन इक्थियोसिस पीड़ित एक नवजात ने जन्म लिया था जिसकी आज पांच दिन बाद मौत हो गई। नवजात के जन्म के बाद बीमारी की जांच करने के लिऐ डॉक्टरों ने स्किन बायोप्सी और केरिया टाइमिन जांच के लिए सेंपल भी लिया था।

 

यह भी पढ़ें 👉  बनभूलपुरा हिंसा: कर्फ्यू को लेकर आये नए आदेश, सुबह 6:00 से शाम 5:00 बजे तक की छूट......

डॉक्टरों का कहना है की इस बीमारी से ग्रस्त नवजात वा मुश्किल चार पांच घंटा ही जीवित रह पाते हैं और चार पांच दिन जीवित रहना अपने आप में एक चमत्कार से कम नहीं है। बहेड़ी क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली एक महिला को प्रसव पीड़ा होने पर परिजन बुधवार की रात को सीएचसी बहेड़ी लेकर गए थे।

 

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: जमीयत उलेमा हिन्द ने उपद्रव में मृतकों व घायलों को दी आर्थिक मदद, बेगुनाहों को कानूनी मदद का भी वादा…….

जहां बुधवार देर रात्रि महिला ने हार्लेक्वीन इक्थियोसिस बीमारी से ग्रस्त एक बच्चे को नार्मल डिलीवरी से जन्म दिया जिस की त्वचा जगह जगह से फटी हुई थी और रंग सफेद था आकर में तुरंत जन्मे बच्चों से अधिक बड़ा था। आंखें भी काफी बढ़ी थी ।

 

डाक्टर के मुताबिक ऐसे जन्मे बच्चों को हार्लेक्विंस इक्थियोसिस बेबी कहा जाता है इनके शरीर में तेल बनाने वाली ग्रंथियां न होने के कारण इनकी त्वचा फटने लगती है, आंखों की खाल पलटने की वजह से आंखें बड़ी बड़ी और चेहरा नार्मल बच्चों के मुकाबले काफी बड़ा और खुरदुरा लगने लगता है। ऐसे बच्चे वा मुश्किल चार पांच घंटा ही जी पाते हैं इस बच्चे का चार पांच दिन जीना अपने में एक चमत्कार है।

Leave a Reply