उत्तराखण्ड काशीपुर ज़रा हटके

पीएनबी बैंक लूट के बाद पुलिस की कार्यप्रणाली पर पूर्व विधायक ने लगाए सलालिया निशान….

ख़बर शेयर करें -

काशीपुर-काशीपुर के पंजाब नेशनल बैंक की ब्रान्च में दिन दहाड़े हुई लाखों की लूट जनपद उधमसिंहनगर पुलिस की कार्यशेली पर सवालिया निशान खड़े कर दिए हैं यदि पुलिस अपना नेटवर्क मजबूत रखे तो इस तरह की वारदात न हो सके। यह कहना है काशीपुर के पूर्व विधायक हरभजन सिंह चीमा का। आज अपने कार्यालय में प्रेस से वार्ता करते हुए पूर्व विधायक हरभजन सिंह चीमा ने कहा कि जनपद उधमसिंहनगर की सीमायें उत्तर प्रदेश से मिलती हैं। यही कारण है कि उत्तर प्रदेश के साथ ही अन्य प्रदेशो के बदमाश यहाॅं आकर जघन्य वारदातों को अंजाम देकर आसानी से निकल जाते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  डा. भीमराव आंबेडकर को जयंती पर याद किया.....

 

पिछले दिनों काशीपुर में उनके आवास के निकट वरिष्ठ भाजपा नेता प्रदीप पैगिया के यहाॅ हुई लाखो की चोरी की घटना के साथ ही जनपद में अन्य स्थानों पर हुई तमाम वारदातों के खुलासें ने इसके प्रत्यक्ष प्रमाण प्रस्तुत किए हैं जिनमें बाहरी बदमाशो का हाथ होना सामने आया है। पूर्व विधायक चीमा ने कहा है कि गुरूवार को पीएनबी की शाखा में हुई लाखों की लूट यह दशा रही है कि बदमाशो में पुलिस का खौफ नहीं रहा। पुलिस मजबूत नेटवर्क का दावा करती है जबकि उसके नेटवर्क को पूरी तरह ध्वस्त करके बदमाश हर दिन एक नई वारदात को अंजाम दे डालते हैं। उन्होंने कहा कि बाहरी व अंदरूनी बदमाशो से पिटने के लिए एक मजबूत और सख्त प्लान बनाने की कार्यवाही की आवश्यकता है।

यह भी पढ़ें 👉  मां बनी हेवान सौतेली मां का पागलपन,बेटी को किया गड्ढे में दफन.......

 

बदमाषों के नेटवर्क को तोड़ने के लिए पुलिस को अपने नेटवर्क को मजबूत बनाने की सख्त आवश्यकता है। चोरों एवं बदमाशो में पुलिस का खौफ समाप्त हो चुका है जिसका प्रत्यक्ष प्रमाण पीएनबी में हुई लूट की बारदात है। बैंक लूटकाण्ड से काशीपुर ही नहीं बल्कि सूमूचे उधमसिंहनगर जनपद के नागरिकों में रोश हैं हर कोई इस घटना का शीघ्र खुलासा चाहता है। पूर्व विधायक चीमा ने पुलिस को अपना नेटवर्क मजबूत कर बैंक लूटकाण्ड का जल्द से जल्द खुलासा करने को कहा है ताकि आम जनता में पुलिस का विषवास कायम रह सके।

यह भी पढ़ें 👉  लोकसभा चुनाव को शांतिपूर्वक एवं सकुशल सम्पन्न कराये जाने हेतु दिये आवश्यक दिशा-निर्देश......

 

चीमा ने पर्वतीय मार्गों पर हो रहे एक्सीडैन्टों से बड़ी मात्रा में हो रही मौतों का मुख्य कारण चालकों में शराब का प्रचलन है। चालकों की न कोई चैकिंग है और न ही कोई सजा का प्राविधान है। प्रतिदिन पर्वतीय सड़कों पर हो रही घटनाओं की खबरें पढ़ने को मिल रही हैं। चालाकों के द्वारा बसों व गाड़ियों की ओवर स्पीड का मुख्य कारण भी चालकों के द्वारा खराब का सेवन कर गाड़ी चलाना है।

Leave a Reply