उत्तराखण्ड जयपुर ज़रा हटके

रवीन्द्र मंच जयपुर के 60 वें हीरक जयंती समारोह का आयोजन……

ख़बर शेयर करें -

जयपुर/उत्तराखड- रवीन्द्र मंच जयपुर के 60 वें हीरक जयंती समारोह , टैगोर योजना के अन्तर्गत कला संस्कृति साहित्य एवं पुरातत्व विभाग राजस्थान के सहयोग से नाट्य समारोह में 26 अप्रैल 2024 शुक्रवार को शाम 7 बजे खेला गया राष्ट्रीय स्तर पर चर्चित नाटक “प्रहरी”देशभर में 35 से अधिक बार की गई प्रस्तुतियों में नाटक प्रहरी को राष्ट्रीय स्तर की नाट्य प्रतियोगिताओं में , प्रस्तुति ,लेखन, निर्देशन व अभिनय की श्रेणी में अनेकों बार प्रथम पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया है।रवीन्द्र मंच पर इसकी 36 वीं प्रस्तुति की गई।

यह भी पढ़ें 👉  विधायक शिव अरोरा ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से की पंतनगर एयरपोर्ट पर मुलाक़ात......

 

नाटक प्रहरी का भावनात्मक और सशक्त रूप में लेखन किया है देश के राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त वरिष्ठ रंगकर्मी हेमचंद्र (राजू) ताम्हणकर ने और निर्देशन किया है जयपुर की ख्याति प्राप्त रंगकर्मी अरशिया परवीन ने कलाकारों के सशक्त अभिनय ने दर्शकों को बांधकर रखा प्रहरी कहानी है सरहद पर तैनात दो फ़ौजियों की युद्ध में मनुष्य जीतने का भ्रम पालता है परन्तु सदैव मानवता हारती है।युद्ध क्या युद्ध ही सभी समस्याओं का समाधान है? अगर नहीं तो क्यों होते हैं युद्ध। क्यूं दो देश अपने आर्थिक विकास के स्थान पर एक दूसरे से शत्रुता रखते हैं।हमारा पड़ोसी मुल्क जो दरअसल हमारा ही हिस्सा था वो आज अनावश्यक कारणों से हमसे शत्रुता रखता है।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं यूनिवर्सिटी टीचर्स एसोसिएशन कूटा ने मोहिनी देवी 92 वर्ष  के निधन पर किया गहरा दुख व्यक्त……

 

शौर्य और पराक्रम में हमसे कमज़ोर होने के कारण आए दिन आतंकवादी हरकतों से दहशत फैलाने की कोशिश करता है।ऐसे में दोनों देशों की सरहदों पर तैनात सैनिकों का आपसी द्वंद है “प्रहरी”आखिर फ़ौजी भी एक इंसान है उसमें भी भावनाएं होती है युद्ध ना‌ होने की स्थिति में तैनात सैनिकों की क्या मानसिक स्थिति होती है।उसे नाटक प्रहरी के ज़रिए दिखाया गया है।प्रिंस अली सिद्दीकी, हेमचंद्र राजू ताम्हणकर के सशक्त अभिनय ने दर्शकों को भाव-विभोर कर दिया अन्य कलाकारों में आयुष गुप्ता, श्वेता शर्मा , शुभम – (पार्श्व सहयोग) में मनीष कुमावत, मास्टर हंज़ला , राहुल नेहरा व कपिल शर्मा थे।

Leave a Reply