उत्तराखण्ड ज़रा हटके हरिद्वार

41 लोगों से भरी बस 20 मीटर गहरी खाई में गिरी, कंडक्टर और मासूम की मौत……

ख़बर शेयर करें -

हरिद्वार में बड़ा सड़क हादसा हुआ है। 41 लोगों से भरी बस 20 मीटर गहरी खाई में गिर गई। हादसे के बाद चीख पुकार मच गई। मौके पर पहुंची SDRF टीम ने राहत एवं बचाव कार्य चलाया और घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया। हादसे में बस कंडक्टर और एक 10 महीने की बच्ची की मौत होने की खबर है।जानकारी के अनुसार, हरिद्वार के चंडी चौक से करीब 200 मीटर आगे नजीबाबाद की तरफ एक रोडवेज बस बेकाबू होकर 20 मीटर नीचे खाई में गिर गई।

यह भी पढ़ें 👉  महिला कांग्रेस और युवा कांग्रेस में प्रकाश जोशी के समर्थन में दिखाया दमखम: अलका पाल…….

 

 

बस में 41 लोग सवार थे। हादसे में बस कंडक्टर और एक 10 महीने की बच्ची की मौत हो गई। चार गंभीर घायल हैं, जिन्हें एम्स ऋषिकेश के लिए रेफर किया गया है।जनपद हरिद्वार सिटी कंट्रोल रूम, हरिद्वार द्वारा SDRF  को सूचना दी गयी कि चंडी चौक से लगभग 200 मीटर आगे नजीबाबाद की ओर एक रोडवेज बस अनियंत्रित होने से मुख्य मार्ग से पलटकर लगभग 20 मीटर नीचे दुर्घटनाग्रस्त हो गयी है। उक्त सूचना पर पोस्ट ढालवाला से ASI महावीर सिंह के नेतृत्व में SDRF टीम तत्काल मौके के लिए रवाना हुई। उक्त बस (UKO7 PA 2570) उत्तराखंड रोड़वेज की थी जिसमे लगभग 41 यात्री सवार थे जोकि रूपड़िया से हरिद्वार की ओर आ रही थी।

यह भी पढ़ें 👉  जनता को गुमराह करने का किया है काम, अजय भट्ट जनता को दें 5 साल का सांसद निधि का ब्यौरा- प्रकाश जोशी....

 

 

 

सभी सामान्य घायल यात्रियो को स्थानीय पुलिस तथा SDRF द्वारा बाहर निकाल दिया गया, जबकि बस का परिचालक (बस कन्डक्टर) बस के नीचे ही दबा हुआ था।SDRF टीम द्वारा फायर सर्विस व स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर कड़ी मशक्कत करते हुए कटिंग उपकरणों की सहायता से बस को काटकर उक्त दबे हुए व्यक्ति को बाहर निकाला व एम्बुलेंस के माध्यम से अस्पताल भिजवाया। किसी अन्य घायल अथवा आवश्यक सामान होने के दृष्टिगत SDRF टीम द्वारा घटनास्थल के आसपास के स्थानों पर गहन सर्चिंग की गई।

यह भी पढ़ें 👉  पीसीएस अफसर ने घर में फंदे से लटककर दी जान......

 बस दुर्घटना अपडेट

उक्त घटना बस में कुल 41 लोग सवार थे। चार गंभीर घायल हैं जिन्हें एम्स अस्पताल ऋषिकेश रेफर किया गया हैं- बस कंडक्टर व एक 10 महीने की बच्ची की मृत्यु हो गई है।

Leave a Reply